भारतीय चयनकर्ताओं पर भड़के युवराज सिंह, कहा- ‘अगले जन्म कहीं 7 साल तक 12वां खिलाड़ी ना बनाया जाऊं’

भारतीय चयनकर्ताओं पर भड़के युवराज सिंह, कहा- ‘अगले जन्म कहीं 7 साल तक 12वां खिलाड़ी ना बनाया जाऊं’– भारतीय क्रिकेट टीम के…

भारतीय चयनकर्ताओं पर भड़के युवराज सिंह, कहा- 'अगले जन्म कहीं 7 साल तक 12वां खिलाड़ी ना बनाया जाऊं'
भारतीय चयनकर्ताओं पर भड़के युवराज सिंह, कहा- 'अगले जन्म कहीं 7 साल तक 12वां खिलाड़ी ना बनाया जाऊं'

भारतीय चयनकर्ताओं पर भड़के युवराज सिंह, कहा- ‘अगले जन्म कहीं 7 साल तक 12वां खिलाड़ी ना बनाया जाऊं’– भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व दिग्गज बल्लेबाज युवराज सिंह वनडे और टी-20 में भारत के सबसे शानदार ऑलराउंडर रहे हैं। उन्होंने भारत के लिए अपनी गेंदबाजी के साथ बल्लेबाजी से कई मैच जिताए हैं। लेकिन टेस्ट मैचों में इस खिलाड़ी का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। वो कभी भी भारत के लिए नियमित टेस्ट मैच नहीं खेल पाए। अब युवराज ने अपने टेस्ट करियर को लेकर बड़ा बयान दिया है। इसकी चर्चा जमकर हो रही है।

ये भी पढ़ें- India Tour of England: इंग्लैंड दौरे से पहले विराट की सेना को मिली बड़ी खुशखबरी, इस स्टार खिलाड़ी ने कोरोना को दी मात

ये महान बल्लेबाज भारत के लिए सिर्फ 40 ही टेस्ट मैच खेल पाया

भारतीय टीम का ये महान बल्लेबाज भारत के लिए सिर्फ 40 ही टेस्ट मैच खेल पाया। इस दौरान उन्होंने सिर्फ 1900 रन बनाए। उनका औसत 33.93 का था। इस दौरान उनके बल्ले से 3 शतक और 11 अर्धशतक निकले। वहीं, इस खिलाड़ी ने भारत को दो बार विश्व विजेता बनाने में बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान निभाया।

अपने कमाल के प्रदर्शन से दो बार भारत को बनाया विश्व विजेता

2007 के टी-20 विश्व कप में इस बल्लेबाज ने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाफ जो पारी खेली वो कोई भी क्रिकेट प्रेमी भूला नहीं सकता है। वहीं, 2011 विश्व कप में उन्होंने भारत के लिए गेंद और बल्ले दोनों से शानदार प्रदर्शन किया था। वो मैन ऑफ द सीरीज भी रहे थे। लेकिन टेस्ट मैचों में उनका प्रदर्शन कभी ऐसा नहीं रहा। युवराज ने अपने कमेंट से इसके लिए भारतीय चयनकर्ताओं को दोषी बताया है।

Share This: