Tata IPL 2022: नॉन-स्ट्राइकर छोर पर रनआउट के फैसले पर बोले R Ashwin, गेंदबाजों को अब संशय नहीं होना चाहिए

Tata IPL 2022, Mankading Rule In Cricket, R Ashwin on Mankading: भारत के स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) ने एमसीसी…

Tata IPL 2022: नॉन-स्ट्राइकर छोर पर रनआउट के फैसले पर बोले R Ashwin, गेंदबाजों को अब संशय नहीं होना चाहिए Mankading Rule In Cricket
Tata IPL 2022: नॉन-स्ट्राइकर छोर पर रनआउट के फैसले पर बोले R Ashwin, गेंदबाजों को अब संशय नहीं होना चाहिए Mankading Rule In Cricket

Tata IPL 2022, Mankading Rule In Cricket, R Ashwin on Mankading: भारत के स्टार ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (R Ashwin) ने एमसीसी के नॉन-स्ट्राइकर छोर पर रन आउट नियम के संबंध में संशोधन के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि गेंदबाजों को अब उन बल्लेबाजों को आउट करने में कोई संशय नहीं होना चाहिए जो गेंद डालने से पहले ही क्रीज से बाहर निकल आते हैं। क्रिकेट के नियमों के संरक्षक मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (Melbourne Cricket Club) ने इस महीने के शुरू में विवादास्पद रनआउट नियम को नियम 41 ‘अनुचित खेल’ से हटाकर नियम 38 में शामिल किया जो वैध तरीके से रनआउट से संबंधित है। खेल की ताजा खबरों के लिए जुड़े रहिए- hindi.insidesport.in

आपका करियर खत्म हो सकता है
Tata IPL 2022, R Ashwin, Mankading Rule In Cricket: एमसीसी ने अपनी संहिता में नौ बदलाव किये जिसमें से एक यही है जो इस साल अक्टूबर से प्रभावी हो जायेगा। अश्विन ने कहा कि गेंदबाजों के छोर के बल्लेबाजों को रनआउट करने की अपील नहीं करने का फैसला करियर को खराब करने वाला हो सकता है। इंडियन प्रीमियर लीग 2019 के एक मैच में इंग्लैंड के जोस बटलर को इसी तरह से आउट करके इस नियम की वैधता पर बहस को हवा देने वाले अश्विन ने एक यूट्यूब वीडियो में कहा, मेरे साथी गेंदबाजों, कृपया समझें। नॉन स्ट्राइकर छोर पर एक अतिरिक्त कदम आपके पूरे करियर को खत्म कर सकता है।

ये भी पढ़ें: IPL 2022: आईपीएल के लिए नेशनल टीम छोड़ने वाले खिलाड़ियों के बचाव में आया दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट बोर्ड, कहा- इससे खिलाड़ियों की देशभक्ति कम नहीं हो जाती

इसका काफी असर पड़ता है
Tata IPL 2022, R Ashwin on Mankading, Melbourne Cricket Club: उन्होंने कहा, क्योंकि अगर नॉन स्ट्राइकर छोर पर खड़ा बल्लेबाज स्ट्राइक पर आ जाये तो वह एक छक्का जड़ सकता है और ऐसा उसके एक अतिरिक्त कदम की वजह से हुआ। वहीं स्ट्राइकर बल्लेबाज शायद आउट हो जाता। अगर आप एक विकेट लेते हो तो आप अपने करियर में आगे बढ़ोगे, जबकि अगर आपकी गेंद पर छक्का लगा तो आपका करियर नीचे की ओर आ सकता है। तो इसका असर काफी बड़ा हो सकता है। अश्विन ने कहा, इसलिये मेरी राय है कि गेंदबाजों के दिमाग में नॉन स्ट्राइकर छोर पर रनआउट करने के बारे में कोई संशय नहीं होना चाहिए। यह एक महत्वपूर्ण नियम है।

क्रिकेट और अन्य खेल से सम्बंधित खबरों को पढ़ने के लिए हमें गूगल न्यूज (Google News) पर फॉलो करें

Share This: