Mumbai Cricket Association: ऐजाज पटेल की 10 विकेट लेने वाली गेंद एमसीए संग्रहालय को दान में दी, भारत के खिलाफ वानखेड़े में रचा था इतिहास

Aijaz Patels 10 wicket: मुंबई क्रिकेट संघ (Mumbai Cricket Association) के अध्यक्ष विजय पाटिल ने एमसीए संग्रहालय (MCA museum) के लिये 10…

Mumbai Cricket Association: Aijaz Patel की 10 विकेट लेने वाली गेंद MCA museum को दान में दी, Vijay Patil, Aijaz Patels 10 wicket
Mumbai Cricket Association: Aijaz Patel की 10 विकेट लेने वाली गेंद MCA museum को दान में दी, Vijay Patil, Aijaz Patels 10 wicket

Aijaz Patels 10 wicket: मुंबई क्रिकेट संघ (Mumbai Cricket Association) के अध्यक्ष विजय पाटिल ने एमसीए संग्रहालय (MCA museum) के लिये 10 विकेट लेने वाली गेंद दान करने पर न्यूजीलैंड के स्पिनर ऐजाज पटेल (Aijaz Patel) की सराहना करते हुए कहा कि यह गेंद प्राइड ऑफ पैलेस (संग्रहालय का गौरव) होगी। पाटिल (Vijay Patil) ने न्यूज एजेंसी से कहा, उन्होंने (ऐजाज पटेल) वानखेड़े स्टेडियम में जो हासिल किया वह पूरी तरह से अभूतपूर्व था। यह तथ्य कि उन्होंने इस कारनामे को हमारे प्रतिष्ठित (वानखेड़े) स्टेडियम में किया था। इससे इस ऐतिहासिक मैदान की स्मृतियों में इजाफा हुआ। खेल की ताजा खबरों के लिए जुड़े रहिए- hindi.insidesport.in

पहली पारी में लिए 10 विकेट

Mumbai Cricket Association-Aijaz Patel: मुंबई में जन्में 34 साल के बायें हाथ के इस स्पिनर ने इस महीने की शुरुआत में भारत के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में सभी 10 विकेट चटकाये थे। वह जिम लेकर (1956) और अनिल कुंबले (1999) के बाद ऐसे करने वाले दुनिया के सिर्फ तीसरे गेंदबाज बने।

ऐजाज बड़े दिल वाला खिलाड़ी है

Aijaz Patels 10 wicket-MCA museum-Vijay Patil: पाटिल ने कहा, उनकी जड़ें मुंबई से ही हैं तो ऐसे में यह उपलब्धि और विशेष हो जाती है। उन्होंने कहा, ऐजाज ने यह साबित किया कि वह बड़े दिल वाला है। उसने इस उपलब्धि को हासिल करने के बाद उदारता दिखाते हुए 10 विकेट लेने वाली यादगार गेंद हमें दे दी। यह कुछ ऐसा है जिसे हम बहुत महत्व देते हैं और यह हमारे एमसीए संग्रहालय का गौरव होगा। पाटिल ने कहा कि यह संग्रहालय युवाओं को प्रेरित करेगा।

एमसीए की समृद्ध विरासत है

Mumbai Cricket Association-Aijaz Patel: उन्होंने कहा, मुझे लगता है कि यह (संग्रहालय का गठन) एक सही कदम है, क्योंकि हमारी (मुंबई क्रिकेट) विरासत काफी बड़ी है। हमारे लगभग 80 खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेले हैं और भारतीय बल्लेबाजों के द्वारा बनाये गये रनों का पांचवां हिस्सा मुंबई के खिलाड़ियों के बल्ले से आया है। हमारी समृद्ध विरासत को संरक्षित करने का कदम मौजूदा और भविष्य के क्रिकेटरों को भी प्रेरित करेगा।

विश्वकप जीतना खास क्षण

Aijaz Patels 10 wicket-MCA museum-Vijay Patil: भारत ने वानखेड़े स्टेडियम में ही महेन्द्र सिंह धोनी के छक्के से 2011 में एकदिवसीय विश्व कप का खिताब जीता था। पाटिल ने कहा, वे बहुत ही खास क्षण थे, 2011 का विश्व कप निश्चित रूप से भारतीय क्रिकेट इतिहास में सबसे सुखद और विशेष क्षण था। यह कारनामा भी वानखेड़े स्टेडियम में हुआ था। इसकी यादें हमारे दिलों में है।

क्रिकेट और अन्य खेल से सम्बंधित खबरों को पढ़ने के लिए हमें गूगल न्यूज (Google News) पर फॉलो करें।

Share This: