Ashes 2021 के बाद भी खेलना मेरा लक्ष्य, स्टुअर्ट ब्रॉड ने कहा- इंग्लैंड बन सकती है दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम

Ashes 2021 के बाद भी खेलना मेरा लक्ष्य, स्टुअर्ट ब्रॉड ने कहा- इंग्लैंड बन सकती है दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम: इंग्लैंड टेस्ट…

Ashes 2021 के बाद भी खेलता रहूंगा क्रिकेट, स्टुअर्ट ब्रॉड ने कहा- इंग्लैंड बनेगी टेस्ट में नंबर 1
Ashes 2021 के बाद भी खेलता रहूंगा क्रिकेट, स्टुअर्ट ब्रॉड ने कहा- इंग्लैंड बनेगी टेस्ट में नंबर 1

Ashes 2021 के बाद भी खेलना मेरा लक्ष्य, स्टुअर्ट ब्रॉड ने कहा- इंग्लैंड बन सकती है दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम: इंग्लैंड टेस्ट क्रिकेट टीम में हर चार साल में कुछ बदलाव किए जाते हैं, इसमें नए क्रिकेटर्स को मौका दिया जाता है वहीं पुराने क्रिकेटर्स की अनदेखी की जाती है. लेकिन तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड का मानना है कि यह 2022 में मेरे साथ नहीं होने जा रहा है, मेरा लक्ष्य एशेज 2021 के बाद भी आगे खेलते रहने का है. स्टुअर्ट ब्रॉड का मानना है कि इंग्लैंड क्रिकेट टीम के लिए ये वर्ष शानदार होने जा रहा है, क्योंकि टीम न्यूजीलैंड के बाद भारत के विरुद्ध 5 टेस्ट मैच खेलेगी और फिर ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध एशेज सीरीज खेली जाएगी. आपको बता दें कि आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में वर्तमान में भारतीय क्रिकेट टीम और न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम वर्ल्ड की बेस्ट टेस्ट 2 टीम है और इंग्लैंड टेस्ट टीम रैंकिंग में तीसरे स्थान पर है.

इंग्लैंड क्रिकेट की मानसिकता की बात की जाए तो यहां टेस्ट क्रिकेट के लिए 4 वर्ष के चक्र पर कार्य होता है, जो एशेज सीरीज के साथ खत्म हुआ. यही कारण रहा कि कई प्लेयर्स ने सिडनी में अपना अंतिम टेस्ट मैच खेला, कुछ प्लेयर्स को बाहर कर दिया जाता है, कुछ नए चेहरे टीम में शामिल होते हैं. स्टुअर्ट ब्रॉड ने ये बात एक कॉलम में लिखी.

लेकिन मुझे नहीं लगता कि वर्तमान इंग्लैंड टीम के साथ ऐसा कुछ होने वाला है, क्योंकि हम (इंग्लैंड टेस्ट टीम) अपनी सफलता के दौर में हैं. और ये बढ़ी हुई उम्र के प्लेयर्स की टीम नहीं है, जिसमे बहुत बदलाव की जरुरत है बल्कि ये एक युवा टीम है जिसे कुछ समय की जरुरत है. ब्रॉड ने अपने लक्ष्य पर बात करते हुए कहा, मैं इंग्लैंड टीम को दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम बनते हुए और उस टीम में खुद को देखना चाहता हूं. स्टुअर्ट ब्रॉड अगले महीने 35 वर्ष के हो जाएंगे.

अनुभवी गेंदबाज दबाव में अच्छी गेंदबाजी कर सकते हैं, हमने ये साबित किया – स्टुअर्ट ब्रॉड

एक तेज गेंदबाज के लिए 35 वर्ष की उम्र में अपनी फिटनेस को बनाए रखना मुश्किल होता है, लेकिन इंग्लिश गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड और जेम्स एंडरसन ने अपनी फिटनेस और अपने प्रदर्शन से इस बात को गलत साबित कर दिया है. दोनों ही गेंदबाज लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं, और इंग्लैंड की गेंदबाजी में धार ला रहे हैं. एशेज 2021 के साथ ही इंग्लैंड अपना 4 वर्षीय चक्र पूरा कर रही है, लेकिन स्टुअर्ट ब्रॉड ने कहा कि वह इसके बाद भी खेलते रहना चाहते हैं.

ब्रॉड ने कॉलम में लिखा, अनुभवी गेंदबाजों को गेंदबाजी करते हुए लोग देख रहे हैं. मुझे लगता है कि मैंने और मेरे साथी जेम्स एंडरसन ने ये साबित कर दिया है कि आप जितने ज्यादा अनुभवी होंगे, दबाव में उतनी ही अच्छी गेंदबाजी कर सकते हो.

स्टुअर्ट ब्रॉड ने लिखा, मुझे लगता है कि मैंने अपना स्तर बनाए रखा. और जो मैंने अपने लिए लक्ष्य निर्धारित किए थे, और खुद से उम्मीदे की थी उसे कभी नहीं खोया. मुझे सही में लगता है कि मैं वर्तमान में अपने सर्वश्रेष्ठ दौर में हूं.

Share This: