Wrestling
भारतीय कुश्ती संघ के निलंबन से दुखी है कुश्ती कम्यूनिटी, द्रोणाचार्य अवॉर्डी कोच ने खेल मंत्रालय को ठहराया जिम्मेदार

भारतीय कुश्ती संघ के निलंबन से दुखी है कुश्ती कम्यूनिटी, द्रोणाचार्य अवॉर्डी कोच ने खेल मंत्रालय को ठहराया जिम्मेदार

भारतीय कुश्ती संघ के निलंबन से दुखी है कुश्ती कम्यूनिटी, जानिए क्या कहा
रेसलिंग फेडेरशन सस्पेंड होने के बाद कुश्ती कम्युनिटी में भी काफी रोष है। इनसाइडस्पोर्ट ने कुछ कुश्ती दिग्गजों से बात की।

WFI Suspended: विश्व कुश्ती की सबसे बड़ी संस्था UWW ने समय पर चुनाव नहीं कराने के कारण भारतीय कुश्ती महासंघ (Wrestling Federation of India) को निलंबित कर दिया, जिसका मतलब है कि भारतीय पहलवान आगामी विश्व चैंपियनशिप में भारतीय झंडे तले नहीं खेल पाएंगे। भारतीय पहलवान 16 सितंबर से शुरू होने वाली विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में न्यूट्रल खिलाड़ियों के रूप में भाग लेंगे। विश्व चैंपियनशिप पेरिस ओलंपिक के लिए क्वालीफाईंग प्रतियोगिता भी है।

रेसलिंग फेडेरशन सस्पेंड होने के बाद कुश्ती कम्युनिटी में भी काफी रोष है। इनसाइडस्पोर्ट ने कुछ कुश्ती दिग्गजों से बात की। बजरंग पुनिया ने भी इस मामले पर सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की थी लेकिन बाद में उन्होंने अपनी वह पोस्ट डिलीट कर दी।

द्रोणाचार्य अवार्डी कोच ने इसे बताया शर्मनाक

द्रोणाचार्य अवार्डी कोच महावीर सिंह ने इनसाइडस्पोर्ट से कहा, “ये बहुत ही शर्म की बात है, हमारे देश के लिए बहुत दुखद घटना है। बड़ा ही दुर्भाग्यपूर्ण है क्योंकि देश की कुश्ती पूरी दुनिया में हमारा नाम कर रही है और इस तरह की घटना उसे निचे लेकर आती हैं। ये सरासर खेल मंत्रालय की गलती है और उन्हें चुनाव रोकने नहीं चाहिए थे। खेल मंत्रालय और भारत सरकार की ही गलतियों के कारण चुनाव नहीं हुए। बहुत बड़े शर्म की बात है कि हमारे देश के पहलवान बिना तिरंगे के चैंपियनशिप में भाग लेंगे।”

एक अन्य कोच ने इनसाइडस्पोर्ट को कहा, “ये बहुत गलत हुआ है, अगर सही टाइम पर इलेक्शन हो जाते तो ये सब झेलना नहीं पड़ता। खिलाड़ियों के बिना देश के झंडे के मैट पर उतरने से न देश और न ही खिलाड़ियों को अच्छा लगेगा।”

UWW ने चुनाव जल्द कराने की दी थी चेतावनी

बता दें कि, यूडब्ल्यूडब्ल्यू ने 28 अप्रैल को चेतावनी दी थी कि अगर चुनाव कराने की समय सीमा का सम्मान नहीं किया गया तो वह भारतीय महासंघ को निलंबित कर सकता है।

आईओए के एक सूत्र ने पीटीआई को बताया, “यूडब्ल्यूडब्ल्यू ने बुधवार रात एड हॉक कमेटी को सूचित किया कि डब्ल्यूएफआई को उसकी कार्यकारी समिति के चुनाव नहीं कराने के कारण निलंबित कर दिया गया है।” मूल रूप से, डब्ल्यूएफआई को 7 मई को चुनाव कराने थे लेकिन खेल मंत्रालय ने इस प्रक्रिया को अमान्य घोषित कर दिया था।

बजरंग और साक्षी ने बताया काला दिन

पहलवा बजरंग पूनिया और साक्षी मलिक ने इस दिन को काला दिन बताया है। दोनों पहलवानों ने सोशल मीडिया पर ट्वीट किया है। दोनों ने लिखा है कि “भारतीय कुश्ती के लिए आज काला दिन है। बृजभूषण और उसके गुर्गों के कारण देश् के पहलवान तिरंगे के साथ नहीं खेल पाएंगे। तिरंगा देश की शान है और हर खिलाड़ी का सपना होता है कि वह जीतने के बाद तिरंगा को मैदान में लेकर दौड़े। ये बृजभूषण और उसके आदमी देश को कितना नुकसान करेंगे।”

क्रिकेट और अन्य खेल से सम्बंधित खबरों (Latest Cricket News, Sports News, Breaking Sports News, Viral Video) को पढ़ने के लिए हमें गूगल न्यूज (Google News) पर फॉलो करें।

Editors pick