Wrestling
भारतीय कुश्ती महासंघ से हटा निलंबन, UWW ने कर दी बड़ी घोषणा

भारतीय कुश्ती महासंघ से हटा निलंबन, UWW ने कर दी बड़ी घोषणा

यूनाइटेड वर्ल्ड रेसिलंग ने भारतीय कुश्ती महासंघ पर पिछले साल लगाया अस्थाई निलंबन हटा दिया है। वैश्विक संगठन ने खुद इसकी घोषणा की।

WFI Suspension: भारतीय कुश्ती संघ पर लगा निलंबन मंगलवार यानी 13 फरवरी को हटा लिया गया है। यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने इसकी घोषणा कर दी है। यूडब्लूडब्लू ने पिछले साल अगस्त में भारतीय कुश्ती महासंघ को निलंबित कर दिया था। जिसके पीछे सबसे बड़ा कारण डब्लूएफआई के चुनाव थे। भारतीय कुश्ती महासंघ समय पर चुनाव कराने में विफल रहा था।

चुनाव समय से नहीं कराने पर यूडब्लूडब्लू ने डब्लूएफआई पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए निलंबन का ऐलान किया था। पिछले 6 महीनों तक यह झेलने के बाद आखिरकार निलंबन को हटा लिया गया है। यूनाइटेड वर्ल्ड रेसिलंग ने 9 फरवरी को समीक्षा बैठक की, जिसमें इस संबंध में विचार किया गया था।

यह भी देखेंः सेंट्रल कांट्रेक्ट से बाहर हो गए हैं ईशान किशन? BCCI के अधिकारी ने दी प्रतिक्रिया

यह भी देखेंः अपने 100वें टेस्ट में पूरी ताकत झोंकेंगे बेन स्टोक्स, गेंदबाजी पर भी लौटे इंग्लिश कप्तान

यह भी देखेंः डीवाई पाटिल टूर्नामेंट से क्रिकेट में वापसी करेंगे ईशान किशनः रिपोर्ट्स

यूडब्लूडब्लू ने अपने बयान में कहा, “यूनाइटेड वर्ल्ड रेसलिंग ने भारतीय कुश्ती महासंघ पर से तत्काल प्रभाव से निलंबन हटा दिया है। यूडब्लूडब्लू ने पिछले साल 23 अगस्त को WFI को अस्थायी निलंबन के तहत रखा था क्योंकि भारतीय संस्था तय समय पर चुनाव कराने में विफल रही थी। यूडब्लूडब्लू अनुशासनात्मक चैंबर ने फैसला किया कि उसके पास निकाय पर अनंतिम निलंबन लगाने के लिए पर्याप्त आधार हैं, क्योंकि महासंघ में स्थिति कम से कम छह महीने तक बनी रही।”

बयान में यह भी किया गया स्पष्ट

हालांकि, अंतरराष्ट्रीय निकाय के अनुसार, डब्ल्यूएफआई के एथलीट आयोग के चुनावों को पुनः र्निर्धारित करना होगा और उम्मीदवारों को सक्रिय एथलीट होना चाहिए या चार साल से अधिक समय से सेवानिवृत्त नहीं होना चाहिए।

इसके अलावा बयान में यह भी स्पष्ट किया गया कि डब्ल्यूएफआई को अंतरराष्ट्रीय निकाय को तुरंत लिखित गारंटी देनी चाहिए कि डब्ल्यूएफआई प्रतियोगिताओं में प्रतिस्पर्धा के लिए आवेदन करते समय किसी भी पहलवान को भेदभाव का सामना नहीं करना पड़ेगा। निलंबन हटने का मतलब यह भी है कि, जब यह लागू था, उसके विपरीत, भारतीय पहलवान अब यूडब्ल्यूडब्ल्यू ध्वज के बजाय अपने देश के राष्ट्रीय ध्वज के तहत प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं।

Editors pick