Wrestling
U-23 World Wrestling Championships: 6 खिलाड़ियों के खर्च से SAI का इंकार, नाराज WFI Chief ने कहा- प्लेयर्स के साथ ऐसा व्यवहार अनुचित

U-23 World Wrestling Championships: 6 खिलाड़ियों के खर्च से SAI का इंकार, नाराज WFI Chief ने कहा- प्लेयर्स के साथ ऐसा व्यवहार अनुचित

U-23 World Wrestling Championships: 6 खिलाड़ियों के खर्च से SAI का इंकार, नाराज WFI Chief ने कहा- प्लेयर्स के साथ ऐसा व्यवहार अनुचित
U-23 World Wrestling Championships: WFI (Wrestling Federation of India) के अध्यक्ष ब्रिज भूषण सिंह (WFI President Brij Bhushan Singh) ने 6 खिलाड़ियों समेत कोच को वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में सरकारी सहायता नहीं देने के फैसले पर साई (Sports Authority of India) को आड़े हाथों लिया। टूर्नामेंट कुछ दिनों में शुरू होगा (1 नवंबर), और उससे […]

U-23 World Wrestling Championships: WFI (Wrestling Federation of India) के अध्यक्ष ब्रिज भूषण सिंह (WFI President Brij Bhushan Singh) ने 6 खिलाड़ियों समेत कोच को वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में सरकारी सहायता नहीं देने के फैसले पर साई (Sports Authority of India) को आड़े हाथों लिया। टूर्नामेंट कुछ दिनों में शुरू होगा (1 नवंबर), और उससे पहले भारतीय खेलों के दो बोर्ड के बीच खींचतान जारी है।

U-23 World Wrestling Championships: खिलाड़ियों के साथ ऐसा व्यवहार गलत – ब्रिज भूषण, डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष

न्यू इंडियन एक्सप्रेस से बात करते हुए रेसलिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया के अध्यक्ष ब्रिज भूषण (WFI Chief) ने सवाल उठाया कि किस बेसिस पर डब्ल्यूएफआई के सिर्फ 24 खिलाड़ियों को अनुमति दी गई है। किस बेसिस पर साई (Sports Authority of India) ने सिर्फ 24 पहलवानों को अनुमति दी है, ये मेरी समझ से परे हैं। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर, ओलिंपिक में पदक जीतने वाले पहलवानों के साथ इस तरह का व्यवहार अनुचित है।

यह भी पढ़ें – अगले हफ्ते एनएक्सटी 2.0 के लिए हुई इस टैग-टीम मैच और सेगमेंट की घोषणा, यहां देखें पूरी डिटेल्स

बुधवार को स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया ने 30 पहलवानों में से सिर्फ 24 को मंजूरी दी थी, और कहा था कि 6 खिलाड़ियों को सरकारी सहायता नहीं दी जाएगी। बावजूद इसके कि इससे पहले WFI चीफ बोल चुके थे कि अगर सभी सदस्यों को मंजूरी नहीं दी गई तो वह अपनी टीम नहीं भेजेंगे।

ना सिर्फ खिलाड़ियों बल्कि 3 कोच को भी इससे बाहर रखा गया है। Wrestling Federation of India ने कोच, तीन फैसिओथेरपिस्ट्स और रेफ़री समेत कुल 45 सदस्यों की लिस्ट भेजी थी। साई ने जारी बयान में कहा, घरेलु और अंतर्राष्ट्रीय स्टार पर पिछले 3 सालों के प्रदर्शन के आधार पर उन्होंने 24 खिलाड़ियों को अनुमति दी है।

U-23 World Wrestling Championships: खेल मंत्रालय को लिख चुका हूं पत्र – ब्रिज भूषण सिंह

असंतोष जताते हुए ब्रिज भूषण (WFI President Brij Bhushan Singh) ने कहा- सभी पहलवान राष्ट्रीय स्तर पर गोल्ड मेडलिस्ट्स हैं। पिछले कुछ महीनों में हमारे पहलवानों, कैडेट ने देश के लिए पदक जीते हैं। शायद कुश्ती एकमात्र खेल है, जिसने महामारी के दौरान भी नेशनल स्तर पर इवेंट आयोजित किया।

यह भी पढ़ें – पाकिस्तानी चैनल पर हुआ ड्रामा, Shoaib Akhtar ने बेइज्जती के बाद दिया रिजाइन- देखें Video

उन्होंने कहा- मैंने पहले ही स्पोर्ट्स मिनिस्टर को पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जाहिर कर दी थी। इसको लेकर मैंने खेल सचिव से भी बात की, और साई डीजी से भी संपर्क करने की कोशिश की लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो सका। मैं अभी भी अधिकारीयों से बात कर रहा हूं, और उम्मीद है कि सभी खिलाड़ियों को सरकारी खर्चे पर टूर्नामेंट में शामिल किया जाएगा।

इस बीच, स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया ने भारतीय कुश्ती महासंघ को सुझाव दिया है कि, कोच समेत अकादमी से प्रशिक्षित को ही दल में शामिल करें।

आगे लिखा- 30 पहलवानों में अधिकतर ऐसे थे, जिन्होंने राष्ट्रीय और डेडिकेटेड अकादमी में लंबे समय की प्लानिंग नहीं होने के चलते निजी अकादमी या अखाड़ों में ट्रेनिंग ली थी।

Editors pick