Wrestling
Asian Games: भारत को लगा झटका, महिला पहलवान विनेश फोगाट इस कारण हुईं बाहर

Asian Games: भारत को लगा झटका, महिला पहलवान विनेश फोगाट इस कारण हुईं बाहर

Asian Games 2023 से पहले ही भारत को एक बुरी खबर का सामना करना पड़ेगा। पहलवा Vinesh Phogat चोटिल होने के कारण खेलों से बाहर हो गई हैं।
Asian Games 2023 से पहले ही भारत को एक बुरी खबर का सामना करना पड़ेगा। पहलवा Vinesh Phogat चोटिल होने के कारण खेलों से बाहर हो गई हैं।

एशियन गेम्स (Asian Games 2023) से पहले ही भारत (India) को एक बुरी खबर का सामना करना पड़ेगा। दरअसल, पहलवान विनेश फोगाट (Vinesh Phogat) चोटिल होने के कारण खेलों से बाहर हो गई हैं। विनेश ने इसकी जानकारी सोशल मीडिया के जरिए खुद दी है। स्टार महिला रेसलर (Woman Wrestler) इसकी जानकारी देते हुए भावुक भी नजर आईं।

जल्द ही एशियन गेम्स का आगाज चीन में होने जा रहा है। भारतीय महिला पहलवान विनेश फोगाट को खेलों में सीधे प्रवेश दिया गया था। जिसका विरोध भी कई पहलवानों ने किया था। लेकिन दुर्भाग्यवश विनेश फोगाट एशियन गेम्स से बाहर हो गई हैं। इसकी वजह उनका अचानक चोटिल होना है। पहलवान ने मंगलवार को खुद इसकी जानकारी दी। विनेश ने सोशल मीडिया के जरिए बताया कि उनके घुटने में चोट लगी है। जिसके कारण वह चीन के हांगझोउ में होने वाले एशियन गेम्स में हिस्सा नहीं ले सकेंगी।

विनेश ने पोस्ट में लिखा कि “मैं एक बेहद बुरी खबर साझा करना चाहती हूं। दो दिन पहले 13 अगस्त को ट्रेनिंग के दौरान मेरे बाएं घुटने में चोट लग गई। स्कैन और जांच के बाद डॉक्टर ने कहा कि बदकिस्मती से चोट से उबरने के लिए अब सर्जरी ही विकल्प है। मेरा 17 अगस्त को मुंबई में ऑपरेशन होगा। मैंने जकार्ता में 2018 में भारत के लिए एशियन गेम्स में जो स्वर्ण पदक जीता था, मेरा सपना उसे फिर से जीतने का था लेकिन दुर्भाग्य से चोट के कारण में अब इन खेलों में हिस्सा नहीं ले पाऊंगी। मैंने संबंधित अधिकारियों को सूचित कर दिया है ताकि रिजर्व खिलाड़ी एशियाई खेलों के लिए भेजा जा सके।” उन्होंने कहा कि “मेरा सभी प्रशंसकों से निवेदन है कि मुझे सपोर्ट करते रहे ताकि मैं जल्द दमदार वापसी कर सकूं और पेरिस 2024 ओलंपिक के लिए तैयारी शुरू कर सकूं। आपके सपोर्ट से मुझे काफी ताकत मिलती है।”

गौरतलब है कि विनेश और बजरंग पूनिया को एशियाई खेलों के ट्रायल्स में छूट देने के कारण विवाद काफी विवाद भी हुआ था। इस बीच पहलवानों को सीधे प्रवेश देने के निर्णय की काफी आलोचनाएं की गईं थी।

Editors pick