Tokyo Olympics Wrestling: सेमीफाइनल में Deepak Punia हारे, अमेरिकी रेसलर ने एकतरफा मुकाबले में दी शिकस्त

Tokyo Olympics Wrestling: सेमीफाइनल में Deepak Punia हारे, अमेरिकी रेसलर ने एकतरफा मुकाबले में दी शिकस्त – अपने ओलंपिक अभियान की मजबूत…

Tokyo Olympics Wrestling, Deepak Punia vs David Taylor, India Wrestler at Olympics
Tokyo Olympics Wrestling: Deepak Punia vs David Taylor के बीच हुए सेमीफाइनल में भारतीय की हार हुई है - India Wrestler at Olympics

Tokyo Olympics Wrestling: सेमीफाइनल में Deepak Punia हारे, अमेरिकी रेसलर ने एकतरफा मुकाबले में दी शिकस्त – अपने ओलंपिक अभियान की मजबूत शुरुआत करने वाले भारतीय पहलवान दीपक पूनिया (Deepak Punia) को 86 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में आकर एक करारी हार का सामना करना पड़ा है। दीपक को अमेरीका के डेविड टेलर (David Taylor) ने पहले राउंड में 10-0 से तकनीकी दक्षता के आधार पर हराकर फाइनल में प्रवेश किया। डबल जूनियर वर्ल्ड चैंपियन पूनिया के लिए 2018 के सीनियर वर्ल्ड चैंपियन डेविड टेलर (Deepak Punia vs David Taylor) के खिलाफ लड़ना बहुत बड़ा टास्क था। टेलर अंतरराष्ट्रीय सर्किट पर सबसे कुशल पहलवानों में से एक माने जाते हैं।

India Wrestler at Olympics : हालांकि उनके लिए अभी पदक की उम्मीद खत्म नहीं हुई है। डेविड टेलर (Deepak Punia vs David Taylor) के फाइनल में पहुंचने की वजह से उन्हें ब्रॉन्ज मेडल के लिए अन्य पहलवानों के साथ रेपेचाज मैच खेलने का मौका मिलेगा। वहीं, दूसरी ओर भारतीय पहलवान रवि दाहिया (Ravi Dahiya ) ने बुधवार को हुए 57 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में शानदार प्रदर्शन करते हुए विश्व चैंपियनशिप के पदक विजेता कजाकिस्तान के नूरइस्लाम सुनयव (Nurislam Sunyaev) को हराकर फाइनल में प्रवेश किया। इसके साथ ही उन्होंने भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक में एक और पदक पक्का कर लिया है। आखिरी बार लंदन ओलंपिक 2012 में सुशील कुमार रेसलिंग के फाइनल में पहुंचने वाले पहले पहलवान थे, उसके 9 साल बाद रवि दाहिया ने फाइनल में पहुंच कर अपने के लिए पदक पक्का किया है। 

Tokyo Olympics Wrestling: दहिया ने पहले दौर में कोलंबिया के टिगरेरोस उरबानो आस्कर एडवर्डो को 13-2 से हराने के बाद बुल्गारिया के जॉर्जी वेलेंटिनोव वेंगेलोव को 14-4 से हराया था। वहीं पूनिया ने पुरूषों के 86 किग्रा वर्ग में आसान ड्रॉ का पूरा फायदा उठाते हुए पहले दौर में नाइजीरिया के एकेरेकेमे एगियोमोर को मात दी जो अफ्रीकी चैम्पियनशिप के कांस्य पदक विजेता हैं। क्वार्टर फाइनल में उन्होंने चीन के जुशेन लिन को 6-3 से हराया।

वहीं 19 वर्ष की अंशु मलिक महिलाओं के 57 किलोवर्ग के पहले मुकाबले में यूरोपीय चैम्पियन बेलारूस की इरिना कुराचिकिना से 2-8 से हार गई। अल्जीरिया के अब्देलहक खेरबाचे को तकनीकी दक्षता के आधार पर हराने वाले वेंगलोव के खिलाफ दहिया ने अपना शानदार फॉर्म जारी रखते हुए शुरू से ही दबाव बनाये रखा।

Tokyo Olympics Wrestling: चौथे वरीयता प्राप्त इस भारतीय पहलवान ने उरबानो के खिलाफ मुकाबले में लगातार विरोधी खिलाड़ी ने उसके दाएं पैर पर हमला किया और पहले पीरियड में ‘टेक-डाउन’ से अंक गंवाने के बाद पूरे मुकाबले में दबदबा बनाए रखा। गत एशियाई चैंपियन दाहिया ने उस समय 13-2 से जीत दर्ज की जबकि मुकाबले में एक मिनट और 10 सेकेंड का समय और बचा था। भारतीय पहलवान ने दूसरे पीरियड में पांच टेक-डाउन से अंक जुटाते हुए अपनी तकनीकी मजबूती दिखाई।

वहीं 86 किग्रा वर्ग में नाइजीरियाई पहलवान के पास ताकत थी लेकिन पूनिया के पास तकनीक थी और वह भारी पड़ी । लिन के खिलाफ हालांकि उन्हें परेशानी पेश आई । उन्होंने 3-1 की बढत बनाई लेकिन लिन ने 3-3 से वापसी की । रैफरी ने थ्रो के लिये दीपक को दो अंक दिये लेकिन चीनी पहलवान ने इसे चुनौती दी और सफल रहे ।

यह भी पढ़ें- Wrestling LIVE, Indian Wrestler at Tokyo Olympics: Ravi Dahiya ने भारत के लिए एक और पदक पक्का किया, 9 साल बाद कोई भारतीय रेसलर फाइनल में पहुंचा

India Wrestler at Olympics- दस सेकंड बाकी रहते पूनिया ने लिन के नीचे से घुसकर उसके पैर पकड़ लिए और हवा में उछालकर दो अंक के साथ मुकाबला जीत लिया। अब उनका सामना अमेरिका के 2018 विश्व चैम्पियन डेविड मौरिस टेलर से होगा। वहीं एशियाई चैम्पियन अंशु ने शानदार वापसी करते हुए 0-4 से पिछड़ने के बावजूद बेलारूस की प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ दो पुश आउट अंक लिए। उसने कुराचिकिना का दाहिना पैर पकड़ लिया लेकिन मूव पूरा नहीं कर सकी।

India Wrestler at Olympics- जवाबी हमले पर उसने दो अंक गंवाए लेकिन लड़ता रहा। यूरोपीय पहलवान का अनुभव आखिरकर उसके जोश पर भारी पड़ा। अंशु की वापसी अब इस बात पर निर्भर करेगी कि कुराचिकिना कहां तक पहुंचती है। अगर वह फाइनल में पहुंचती है तो अंशु को रेपाशाज खेलने का मौका मिलेगा।

Share This: