Sushil Kumar Arrested: सुशील कुमार को मारने के लिए क्यों पिछे पड़ा है जठेड़ी गैंग, जानें पूरी कहानी!

Sushil Kumar Arrested: सुशील कुमार को मारने के लिए क्यों पिछे पड़ा है जठेड़ी गैंग, जानें पूरी कहानी!- अंतरराष्ट्रीय पहलवान सुशील कुमार…

Sushil Kumar Arrested: सुशील कुमार को मारने के लिए क्यों पिछे पड़ा है जठेड़ी गैंग, जानें पूरी कहानी!
Sushil Kumar Arrested: सुशील कुमार को मारने के लिए क्यों पिछे पड़ा है जठेड़ी गैंग, जानें पूरी कहानी!

Sushil Kumar Arrested: सुशील कुमार को मारने के लिए क्यों पिछे पड़ा है जठेड़ी गैंग, जानें पूरी कहानी!- अंतरराष्ट्रीय पहलवान सुशील कुमार न केवल पिछले 18 दिनों से दिल्ली पुलिस से बल्कि उत्तर भारत के मोस्ट वांटेड गैंगस्टरों में से एक संदीप उर्फ काला जठेड़ी से भी बचने की कोशिश कर रहा था। जिसके बारे में माना जाता है कि वह इस समय दुबई में है। जठेड़ी ने हाल ही में अपने सहयोगी कुलदीप फज्जा को मुक्त करने के लिए जीटीबी अस्पताल में गोलीबारी करवाई थी, जिसे बाद में एक मुठभेड़ में स्पेशल सेल ने मार गिराया था।

ये भी पढ़ें- ICC WTC Finals: न्यूजीलैंड की सबसे बड़ी चिंता कोहली-रोहित नहीं बल्कि ‘रिषभ पंत’, उनको रोकने के लिए पूरी टीम कर रही तैयारी

पुलिस ने कहा कि जठेड़ी दिल्ली में सोनू और अन्य के जरिए विवादित संपत्तियों को बड़े पैमाने पर हथियाने में संलिप्त था। सुशील कुमार ने कथित तौर पर जठेड़ी से हाथ मिलाया था और उत्तर पश्चिमी दिल्ली के मॉडल टाउन के एम2-ब्लॉक में एक फ्लैट था। जिसको लेकर विवाद हुआ था।

लेकिन जठेड़ी गैंग पहलवान के पीछे क्यों है?

सुशील कुमार ने जब धनकड़ पर हमला किया था, तो उसने सोनू नाम के एक अन्य व्यक्ति को भी पीटा था। उसके खिलाफ हत्या, जबरन वसूली और लूट के 19 मामले दर्ज हैं। सोनू जठेड़ी का भतीजा है, जिसे वह अपने बेटे की तरह मानता है।

जिस फ्लैट को लेकर विवाद हुआ उसका इस्तेमाल जठेड़ी-लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के अपराधियों को पनाह देने के लिए किया जा रहा था और वहां कई अपराध की साजिश रची गई थी।

सुशील और जठेड़ी ने आपस में इसलिए हाथ मिलाया क्योंकि दिल्ली, यूपी और हरियाणा में टोल टैक्स बूथों पर पूर्ण नियंत्रण रख सके। वहीं, संपत्ति की बिक्री से प्राप्त पैसों को सुशील कुमार और जठेड़ी के बीच समान रूप से बांटा जाना था। हालांकि, पिछले कुछ महीनों से जेल में बंद गैंगस्टर नीरज बवाना और नवीन बाली के गुर्गों सहित दुश्मन गिरोहों के साथ सुशील कुमार की निकटता बढ़ गई थी, जिससे पहलवान और जठेड़ी के गिरोह के बीच अविश्वास पैदा हो गया था। ये बातें एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया।

जब जठेड़ी ने सुशील कुमार पर पैसे और फ्लैट की बिक्री के लिए दबाव डाला, तो उसने धनकड़ और वहां रहने वाले अन्य लोगों को परिसर खाली करने के लिए कहा। इससे जठेड़ी गैंग नाराज हो गया, जिसने उसे सार्वजनिक रूप से गाली देना शुरू कर दिया।

जब सुशील कुमार को यह पता चला तो उन्होंने सागर धनखड़ और अन्य लोगों को आमने-सामने की चुनौती दी। बताया जा रहा है कि सागर भी जठेड़ी गैंग के संपर्क में था और सोनू का दोस्त था। सोनू को लगा कि जठेड़ी के दबदबे को देखते हुए सुशील कुमार कुछ नहीं कर पाएगा। हालांकि, जठेड़ी के दुश्मनों के समर्थन के साथ ही सुशील कुमार के अंदर से डर निकल गया था।

इसी कारण सुशील कुमार ने हमला करने और वीडियो बनाने को कहा। जिससे उनके अंदर और डर आ जाए। हालांकि, धनकड़ की मृत्यु और जठेड़ी के गुर्गों को गंभीर चोटें लगने के कारण गैंगस्टर ने सुशील कुमार और उसके सहयोगियों के खिलाफ उसे खत्म करने की धमकी दे डाली। सूत्रों ने पुष्टि की है कि जठेड़ी के लोग अभी भी सुशील कुमार और उसके साथियों की तलाश कर रहे हैं जो हत्या की रात उसके साथ थे।

Share This: