‘क्वारंटाइन में उन फिटनेस जरूरतों पर ध्यान दिया जा रहा है जो सत्र में छूट जाते है’

‘पृथकवास में उन फिटनेस जरूरतों पर ध्यान दिया जा रहा है जो सत्र में छूट जाते है’ : टीम के स्ट्रेंथ एंड…

'पृथकवास में उन फिटनेस जरूरतों पर ध्यान दिया जा रहा है जो सत्र में छूट जाते है'
'पृथकवास में उन फिटनेस जरूरतों पर ध्यान दिया जा रहा है जो सत्र में छूट जाते है'

‘पृथकवास में उन फिटनेस जरूरतों पर ध्यान दिया जा रहा है जो सत्र में छूट जाते है’ : टीम के स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग (ताकत एवं अनुकूलन) कोच सोहम देसाई ने सोमवार को कहा कि भारतीय खिलाड़ियों को तीन सप्ताह के अप्रत्याशित विश्राम और होटल पृथकवास का इस्तेमाल उन फिटनेस जरूरतों को पूरा करने पर ध्यान दिया जो सत्र के दौरान आमतौर पर छूट जाता है.

न्यूजीलैंड के निक वेब के साथ देसाई पुरुष टीम के स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग कोच हैं और 18 जून से साउथम्प्टन में खेले जाने वाले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल से पहले फिटनेस के मामले में टीम को शीर्ष पर रखने की जिम्मेदारी उन्हीं पर है.

देसाई ने बीसीसीआई डॉट टीवी से कहा, “निक और मैने महसूस किया कि खिलाड़ियो को आराम करने के लिए जो समय मिला है, उससे हमें फायदा हुआ है. पिछले आईपीएल से लेकर अब तक उनके लिए यह एक लंबा साल रहा है.”
देसाई ने कहा कि उन्होंने भारत के सभी शीर्ष खिलाड़ियों को प्रशिक्षण पर वापस आने से पहले ‘आराम करने और अपने लिए कुछ समय निकालने’ और परिवार के साथ रहने का सुझाव दिया था.

टीम बुधवार रात ब्रिटेन के लिए रवाना होगी .

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज के साथ लंबे समय से कम कर रहे देसाई ने कहा, ‘‘ खिलाड़ियों के प्रशिक्षण की इस पूरी प्रक्रिया में तीन सप्ताह का समय लगेगा. वे आम तौर पर ऐसा नहीं कर पाते है क्योंकि लगातार मैच खेलना होता है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘ हम धीरे-धीरे उन्हें उस दिशा में ले जा रहे है जो उनके लिए वास्तव में जरूर है . हम उन पहलुओं पर काम कर रहे है जो हमें लगता है कि सत्र के दौरान नहीं कर सकते है.’’

उन्होंने बीसीसीआई का शुक्रिया करते हुए कहा, ‘‘ हम बीसीसीआई के आभारी हैं कि उन्होंने हमें ऐसी जगह रखा है जहां कमरे के साथ बालकनी है और खिलाड़ी खुले में कसरत करने में सक्षम थे. पृथकवास के दौरान खिलाड़ी अपने कमरे में प्रशिक्षण कर रहे थे.

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि हमने सभी जरूरतों को पूरा किया है और अब बहुत अच्छी स्थिति में है.’’

(यह खबर पीटीआई-भाषा द्वारा प्रकाशित की गई है.)

Share This: