सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान

देश की पहली महिला टेनिस (Tennis) खिलाड़ियों में शुमार सानिया मिर्जा (Sania Mirza) किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। टेनिस में कई…

सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान
सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान

देश की पहली महिला टेनिस (Tennis) खिलाड़ियों में शुमार सानिया मिर्जा (Sania Mirza) किसी परिचय की मोहताज नहीं हैं। टेनिस में कई उपलब्धियां (Sania Mirza Achievements) हासिल कर उन्होंने ना सिर्फ देश का मान बढ़ाया है बल्कि सभी महिलाओं के लिए प्रेरणास्त्रोत भी बनी हैं। सानिया फरवरी में अपना अंतिम ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट (Grand Slam tennis tournaments) खेलेंगी। लेकिन पिछले महीनों में सानिया अपने निजी जीवन के कारण काफी चर्चा में रहीं। आज हम उनके जीवन और करियर (Sania Mirza career) से जुड़ी कुछ अहम जानकारी आपके साथ शेयर करेंगे। खेल जगत से जुड़ी हर खबर के लिए Hindi.InsideSport.In के साथ जुड़े रहिए।

सानिया की प्रोफेशनल लाइफ से हर कोई वाकिफ है। सानिया ने यूएस ओपन 2022 में टेनिस से संन्यास लेने की योजना बनाई थी लेकिन चोट के कारण उन्हें ग्रैंड स्लैम से चूकना पड़ा। सानिया ने कम उम्र में टेनिस खेलना शुरु किया और दुनिया भर में भारत का मान बढ़ाया। कई अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट में भारत का प्रतिनिधित्व भी किया।

महज 6 साल की उम्र में शुरु की ट्रेनिंग

15 नवंबर 1986 मुंबई में जन्मीं सानिया का बचपन हैदराबाद में गुजरा। उनके पिता इमरान मिर्जा पेशे से एक स्पोर्ट्स पत्रकार थे, बाद में उन्होंने एक प्रिटिंग बिजनेस की शुरुआत की और निर्माता बन गए। उसी प्रीटिंग में सानिया की मां नसीमा मिर्जा भी कार्यरत थीं। उनकी शुरुआती स्कूली शिक्षा खेराताबाद की नासर स्कूल से हुई जबकि आगे की पढ़ाई के लिए उन्होंने हैदराबाद के सेंट मैरी कॉलेज को चुना। महज 6 साल की उम्र में उन्होंने निजाम क्लब में दाखिला लिया लेकिन वहां के कोच ने उनकी उम्र को देखते हुए उन्हें कोचिंग देने से मना कर दिया। लेकिन उनके हुनर और लगाव को देखकर बाद में कोच उन्हें ट्रेनिंग देने के लिए मान गए।

सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान
सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान

सानिया मिर्जा की उपलब्धियां

अपने पूरे करियर में सानिया ने 1999 में जकार्ता में हुए विश्व जूनियर चैंपियनशिप में पहला अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंट खेला था। बाद में 2003 में विंबलडन चैंपियनशिप गर्ल्स डबल में खिताब भी जीता। 2003 यूएस ओपन गर्ल्स डबल्स के सेमीफाइनल तक पहुंचीं। इस दौरान उन्होंने चार गोल्ड मेडल भी अपने नाम किए। साल 2007 में सानिया ने चार युगल खिताब जीते और वर्ल्ड रैंकिंग में 27वें नंबर पर अपनी जगह बनाई। फिर 2009 में महेश भूपति के साथ ऑस्ट्रेलियाई ओपन मिक्स्ड डबल में पहला ग्रैंड स्लैम अपने नाम किया। बता दें कि, सानिया ने अपने पूरे करियर में 6 ग्रैंड स्लैम अपने नाम किए। गौरतलब है कि, सानिया ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं।

सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान
सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान

सानिया की शादी विवादों में रही

सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान
सानिया मिर्जा देश की पहली महिला टेनिस प्लेयर, कई उपलब्धियां हासिल कर बढ़ाया देश का मान

हालांकि, जब सानिया अपने करियर की ऊंचाइयों पर थी तो उन्होंने अप्रैल 2010 में पाकिस्तान के क्रिकेटर शोएब मलिक से शादी रचा ली। कुछ सालों तक शादी ठीक चली लेकिन फिर उनकी शादी काफी विवादों में रही। इस दौरान उनका एक बेटा भी है।

क्रिकेट और अन्य खेल से सम्बंधित खबरों (Latest Cricket News, Sports News, Breaking Sports News, Viral Video) को पढ़ने के लिए हमें गूगल न्यूज (Google News) पर फॉलो करें।

Share This: