I-League: रीयल कश्मीर एफसी के कोच डेविड रॉबर्टसन हुए ब्रिटिश एम्पायर पद से सम्मानित

I-League: रीयल कश्मीर एफसी के कोच डेविड रॉबर्टसन हुए ब्रिटिश एम्पायर पद से सम्मानित- आई-लीग की टीम रीयल कश्मीर एफसी (आरकेएफसी) के…

रीयल कश्मीर एफसी के कोच रॉबर्टसन को ब्रिटिश एम्पायर पद का सम्मान
रीयल कश्मीर एफसी के कोच रॉबर्टसन को ब्रिटिश एम्पायर पद का सम्मान

I-League: रीयल कश्मीर एफसी के कोच डेविड रॉबर्टसन हुए ब्रिटिश एम्पायर पद से सम्मानित- आई-लीग की टीम रीयल कश्मीर एफसी (आरकेएफसी) के कोच डेविड अलेक्जेंडर रॉबर्टसन को घाटी (जम्मू कश्मीर) में फुटबॉल को बढ़ावा देने के अलावा ब्रिटेन-भारत के बीच रिश्तों को मजबूत करने में अहम योगदान देने के लिए ‘ब्रिटिश एम्पायर मेडल (बीईएम)’ से सम्मानित किया गया है.

रॉबर्टसन ने इस सम्मान को कश्मीर के लोगों और अपनी टीम के नाम किया.

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के जन्मदिन के अवसर पर शुक्रवार शाम को जारी सूची के अनुसार, “रीयल कश्मीर फुटबॉल क्लब के मैनेजर को भारत के कश्मीर में सेवाएं देने के लिए और ब्रिटेन-भारत संबंधों में अहम भूमिका निभाने के लिए ब्रिटिश एम्पायर मेडल (बीईएम) प्रदान किया जाता है.”

ब्रिटिश सरकार ने शनिवार को उनकी आधिकारिक जन्मदिन को चिह्नित करने के लिए पुरस्कारों की घोषणा की.

रीयल कश्मीर फुटबॉल क्लब के कोच 52 वर्षीय रॉबर्टसन को स्थानीय समुदाय की सेवाओं के लिए ‘क्वीन्स बर्थडे ऑनर्स लिस्ट’ में ब्रिटिश एम्पायर मेडल (बीईएम) मिला है.

आधिकारिक सूची में कहा गया, “यह पुरस्कार जनवरी 2017 से आरकेएफसी के मुख्य कोच के रूप में खेल और समुदाय में रॉबर्टसन के उत्कृष्ट योगदान को मान्यता देता है. इसमें उनके मार्गदर्शन में टीम के आई-लीग में पहली बार पहुंचना शामिल है. इससे पहली बार टीम ने इस स्तर पर प्रतिस्पर्धा की थी.”

रॉबर्टसन ने कहा कि वह ‘बहुत खुश है’ और कश्मीर में अपने काम के लिए इस सम्मान से सम्मानित होने पर गौरवान्वित महसूस कर रहे है.

उन्होंने कहा, “मैंने कश्मीर में बिताए हर पल का आनंद लिया है. वहां काम करना और इतने अच्छे लोगों से मिलना एक वास्तविक खुशी है. मैं कश्मीर को अपना दूसरा घर मानता हूं.”

रॉबर्टसन अभी स्कॉटलैंड में है और पीटीआई-भाषा द्वारा संपर्क किए जाने पर उन्होंने कहा, “मुझे शुरुआती दिन याद हैं जब आरकेएफसी के मैच के लिए मुश्किल से कुछ दर्जन लोग आए थे. लोग पेड़ों पर चढ़कर और आस-पास के इमारतों से अपनी टीम का हौसला बढ़ाते थे.”

उन्होंने कहा, “मैं इसे अपने क्लब खासकर टीम मालिक संदीप चट्टू और कश्मीर के लोगों को समर्पित करता हूं.”

चट्टू ने इस उपलब्धि के लिए रॉबर्टसन को बधाई देते हुए कहा कि इससे जम्मू कश्मीर के लोगों के अलावा टीम का मनोबल भी बढ़ेगा.

उन्होंने कहा, “डेविड रॉबर्टसन 2017 से टीम से जुड़े है और मैंने आरकेएफसी को लेकर अपने सपनों को जब उनसे साझा किया, तब से टीम ने पीछे मुड़कर नहीं देखा है.”

उन्होंने श्रीनगर से पीटीआई-भाषा से कहा, “वह खेल के हर पहलू और मैदान में खिलाड़ियों की हर हरकत पर नजर रखते है. वह हार और जीत की परवाह किए बिना खिलाड़ियों को उनकी कमियों के बारे में बताते है.”

‘स्नो लेपर्ड’ के नाम से जानी जाने वाली इस टीम ने पिछले साल आईएफए शील्ड टूर्नामेंट जीता था, जो क्लब के बनने के बाद से उसका सबसे बड़ा खिताब है.

क्लब को उस समय वैश्विक पहचान मिली थी जब बीबीसी स्कॉटलैंड ने कर टीम के ऊपर एक वृत्तचित्र तैयार किया था. इसका नाम ‘रिटर्न टू रीयल कश्मीर एफसी’ था. इसे प्रतिष्ठित BAFTA (ब्रिटिश एकेडमी ऑफ फिल्म एंड टेलीविजन आर्ट्स) पुरस्कारों में सम्मानित भी किया गया था.

ये भी पढ़ें – लॉकडाउन के पंद्रह महीने के बाद UEFA Euro 2020 से हुई बड़ी खेल प्रतियोगिताओं की वापसी

Share This: