ICC T20 World Cup: टी20 वर्ल्डकप के लिए टीम में सेलेक्ट ना होने पर गुस्सा थे शमी, बचपन के कोच ने किया खुलासा- Check Out

ICC T20 World Cup: टीम इंडिया (Team India) के बेहतरीन गेंदबाजों में शुमार मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) के कोच मोहम्मद बदरुद्दीन ने…

ICC T20 World Cup: टी20 वर्ल्डकप के लिए टीम में सेलेक्ट ना होने पर गुस्सा थे शमी, बचपन के कोच ने किया खुलासा- Check Out
ICC T20 World Cup: टी20 वर्ल्डकप के लिए टीम में सेलेक्ट ना होने पर गुस्सा थे शमी, बचपन के कोच ने किया खुलासा- Check Out

ICC T20 World Cup: टीम इंडिया (Team India) के बेहतरीन गेंदबाजों में शुमार मोहम्मद शमी (Mohammad Shami) के कोच मोहम्मद बदरुद्दीन ने उन्हें लेकर खुलासा किया है। दरअसल, बदरुद्दीन ने बताया कि जब शमी को टी20 वर्ल्डकप (T20 World Cup 2022) के लिए टीम में शामिल नहीं किया गया था तो वो गुस्से में थे। लेकिन उन्होंने कभी ज्यादा कुछ नहीं कहा। अब दुनिया की तरह बदरुद्दीन भी शमी को विकेट लेने के बाद जश्न मनाते हुए देखते हैं। बता दें कि, बदरुद्दीन उस घटना का जिक्र भी किया है भारत और पाकिस्तान (IND vs PAK) के बीच हुए रोमांचक मुकाबले में शमी ने मैदान पर पाकिस्तान के इफ्तिखार अहमद का विकेट लिया और उसके पाद जश्न मनाया। इसके बाद 2 नवंबर को फिर बांग्लादेश के खिलाफ मुकाबले में उन्होंने जब नजमुल शांतो का विकेट चटकाया तो उनके चेहरे पर संतोष साफ देखा जा सकता था। बदरुद्दीन ने बताया कि शमी के चेहरे पर वो संतोष उनके संघर्षों को बयां कर रहे थे। खेल जगत से जुड़ी हर खबर के लिए Hindi.InsideSport.In के साथ जुड़े रहिए।

शमी के बचपन के कोच बदरुद्दीन ने इंडियन एक्सप्रेस को पूरी कहानी सुनाई। उन्होंने कहा, जब ऐसा लग रहा था कि अनुभवी तेज गेंदबाज शमी टीम में अपना स्थान पक्का नहीं कर पाएंगे तो उन्होंने उसी समय तैयारी शुरु कर दी थी। बदरुद्दीन आगे बताते हैं कि, शमी एक खास तरह की गेंदबाजी में महारत हासिल करना चाहते थे। रोशनी में ओस के दौरान कैसे यॉर्कर किया जाए, जबकि गेंद को पकड़ना आसान नहीं होता। वे इस पर काम करना चाहते थे जिसके लिए उन्होंने शमी ने अपने गांव सहसुपर अलीनगर जो अमरोह और मुरादाबाद के बीच में पड़ता है। वहां खेत में फ्लडलाइट्स के साथ क्रिकेट की पिचें भी बिछाई हैं जहां वो अक्सर प्रैक्टिस करते दिखते हैं।

ICC T20 World Cup: टी20 वर्ल्डकप के लिए टीम में सेलेक्ट ना होने पर गुस्सा थे शमी, बचपन के कोच ने किया खुलासा- Check Out
ICC T20 World Cup: टी20 वर्ल्डकप के लिए टीम में सेलेक्ट ना होने पर गुस्सा थे शमी, बचपन के कोच ने किया खुलासा

बदरुद्दीन ने आगे कहा, लगभग दस गीली गेंदे रखीं और वो बिना रुके गेंदबाजी करता था। गीली गेंद को पकड़ना आसान नहीं होता है वो मौका होता है जहां स्किल काम आती हैं। शमी को अपनी कला में महारत हासिल करने के लिए औसतन रोजाना सौ गेंदे फेंकनी पड़ती हैं। इसी की बदौलत वो अच्छा कर रहे हैं। उनकी इस मेहनत का नतीजा बांग्लादेश के खिलाफ मैच में देखने को मिला जब बारिश के बाद खेल फिर से शुरु हुआ। बता दें कि, शमी ने पिछले मुकाबले में बांग्लादेश के खिलाफ पहले दो ओवरों में अपने पहलेस्पेल में 21 रन दिए थे। जिसमें एक 16 रन का ओवर भी शामिल था। उन्होंने अपनी पहली गेंद पर नजमुल शांतो को पवेलियन भेजने का काम किया।

क्रिकेट और अन्य खेल से सम्बंधित खबरों को पढ़ने के लिए हमें गूगल न्यूज (Google News) पर फॉलो करें।

Share This: