Cricket
जब विराट एंड कंपनी ने ऑस्ट्रेलिया को उनके घर में हराया, भारत ने सीरीज जीतकर रचा इतिहास

जब विराट एंड कंपनी ने ऑस्ट्रेलिया को उनके घर में हराया, भारत ने सीरीज जीतकर रचा इतिहास

भारत ने 7 जनवरी, 2019 को विराट कोहली की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया को उनके घर में टेस्ट सीरीज हराकर इतिहास रच दिया था।

IND vs AUS Test Series 2019: भारत ने 2019 में आज ही के दिन यानी 7 जनवरी को ऑस्ट्रेलिया को उन्हीं के घर में करारी शिकस्त देकर पहली बार टेस्ट सीरीज जीती थी। सिडनी में सीरीज का आखिरी और चौथा टेस्ट भारत ने ड्रॉ कराया था। जिसके बाद मेहमान टीम ने 2-1 से सीरीज पर कब्जा कर लिया।

भारतीय क्रिकेट टीम के फैंस इस दिन को कभी नहीं भूलेंगे। भारत की ऑस्ट्रेलिया में यह शानदर सीरीज की जीत विराट कोहली की कप्तान में आई थी। इस जीत के बाद सिर्फ दक्षिण अफ्रीका ही एकमात्र ऐसा देश है जहां भारत ने टेस्ट सीरीज नहीं जीती है।

भारत ने एडिलेड से 4 मैचों की सीरीज की शानदार शुरुआत की। चेतेश्वर पुजारा ने पहले मुकाबले में कमाल का प्रदर्शन कया आर 194 रनों की बड़ी पारी खेली। भारत को इस मैच में 31 रनों से जीत मिली और इसी के साथ टीम ने 1-0 से सीरीज में बढ़त बना ली।

हालांकि, इसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने दूसरे टेस्ट में वापसी कर ली। पर्थ में हुए मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को हराकर 1-1 से सीरीज को बराबरी पर ला दिया। लेकिन इसके बाद भी किंग कोहली की कप्तानी वाली टीम के हौसले नहीं रुके और अगला मैच मेलबर्न के ग्राउंड पर खेला गया। इस मैच में भारत ने 137 रनों के बड़े अंतर से मेजबान टीम को हराया और सीरीज में 2-1 की बढ़त हासिल कर ली।

बारिश की भेंट चढ़ा आखिरी टेस्ट मैच

सिडनी में सीरीज का आखिरी टेस्ट मैच खेला गया और भारतीय टीम किसी भी तरह से ड्रॉ पर भी संतुष्ट हो सकती थी। बारिश ने भारत का काम आसान कर दिया और सीरीज जीतना सरल मेहमानों के लिए सरल बना दिया। विराट कोहली एंड कंपनी ने इस मुकाबले में भी जोरदार प्रदर्शन किया।

पुजारा और ऋषभ पंत के शतकों की बदौलत भारत ने पहली पारी में 622 रन जड़े थे। चेतेश्वर पुजारा को सीरीज में पूरे 521 रन बनाने के लिए प्लेय ऑफ द सीरीज चुना गया। इसके अलावा भारत के पेस अटैक ने भी शानदार प्रदर्शन दिखाया। जसप्रीत बुमराह ने चार मैचों की सीरीज में 21 विकेट लिए, जबकि मोहम्मद शमी ने 18 विकेट चटकाए। इस बीच, ईशांत शर्मा ने तीन मैच खेले और 11 विकेट हासिल किए।

Editors pick