Cricket
On This Day: धोनी ने आज ही के दिन किया था इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू

On This Day: धोनी ने आज ही के दिन किया था इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू

On This Day: धोनी ने आज ही के दिन किया था इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू
भारत को सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली और युवराज सिंह जैसे खिलाड़ी मिलना निश्चित रूप से एक बड़ी बात है।

क्रिकेट में कुछ चीजें ऐसी होती हैं, जो जीवन में केवल एक ही बार होती हैं। भारत को सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली और युवराज सिंह जैसे खिलाड़ी मिलना निश्चित रूप से एक बड़ी बात है। लेकिन सबसे अच्छा पल एमएस धोनी का भारतीय क्रिकेट में डेब्यू था, जिसके बाद उन्होंने टीम इंडिया को पहली वर्ल्ड कप ट्रॉफी दिलवाई।

न केवल अपनी बल्लेबाजी और विकेटकीपिंग से बल्कि अपनी कप्तानी से धोनी भारत को कई बड़े टूर्नामेंट में जीत दिलाई। 2004 में इसी दिन (23 दिसंबर) को दुनिया ने पहली बार धोनी को बांग्लादेश के खिलाफ चैटोग्राम में वनडे डेब्यू करने का मौका मिला।

भले ही धोनी अपने डेब्यू मुकाबले में बिना खाता खोले आउट हो गए हों। लेकिन जो उन्होंने भारत के लिए किया है शायद कोई और न कर सके। इसके बाद अगले 349 एकदिवसीय मैचों में, उन्होंने 50 से अधिक की औसत से 10773 रन बनाए और भारत को विश्व कप 2011 का खिताब, टी20 विश्व कप 2007 का खिताब और 2013 में चैंपियंस ट्रॉफी जीत दिलाई।

ऐसा नहीं था कि वह केवल वनडे में ही हिट थे, बल्कि टेस्ट और टी20 में भी उतने ही अच्छे थे। अब तक के सबसे सफल भारतीय कप्तान, धोनी ने 90 टेस्ट खेले और 38.09 की औसत से 4876 रन बनाए। टी-20 में उन्होंने खेले 98 मैचों में 37 से अधिक की औसत से 1617 रन बनाए। आखिरकार, 15 वर्षों तक भारत की सेवा करने के बाद, एमएस धोनी ने चार साल पहले विश्व कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में हार के बाद 2019 में संन्यास ले लिया।

Editors pick