Cricket
IND A vs PAK A: हंगरगेकर की नो बॉल पर याद आया Champions Trophy 2017 फाइनल मैच

IND A vs PAK A: हंगरगेकर की नो बॉल पर याद आया Champions Trophy 2017 फाइनल मैच

एमर्जिंग एशिया कप (ACC Emerging Cup) में भारत ए और पाकिस्तान ए (IND A vs PAK A) के मुकाबले के बीच क्रिकेट प्रशंसकों को चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का फाइनल मैच याद आ गया। मैच में पाकिस्तान ए के ओपिनंग बल्लेबाजों ने शानदार साझेदारी की। जिससे पाकिस्तान को एक अच्छी शुरुआत मिली। लेकिन भारत ए के […]

एमर्जिंग एशिया कप (ACC Emerging Cup) में भारत ए और पाकिस्तान ए (IND A vs PAK A) के मुकाबले के बीच क्रिकेट प्रशंसकों को चैंपियंस ट्रॉफी 2017 का फाइनल मैच याद आ गया। मैच में पाकिस्तान ए के ओपिनंग बल्लेबाजों ने शानदार साझेदारी की। जिससे पाकिस्तान को एक अच्छी शुरुआत मिली। लेकिन भारत ए के तेज गेंदबाज राज्यवर्धन हंगरगेकर (Rajvardhan Hangargekar) द्वारा ओपनर बल्लेबाज सैम अय्यूब (Saim Ayub) को डाली गई नो बॉल पर प्रशंसकों को चैपियंस ट्रॉफी 2017 (IND vs PAK) में बुमाराह (Jasprit Bumrah) की नो बॉल याद आ गई। जिसमें पाकिस्तानी बल्लेबाज को जीवनदान मिलने के बाद मैच का रुख बदल गया था।

भारत ए बनाम पाकिस्तान ए मैच में राज्यवर्धन हंगरगेकर चौथ ओवर डाल रहे थे। जिसकी आखिरी गेंद उन्होंने पाकिस्तान के सलामी बल्लेबाज सैम अय्यूब को डाली। 17 रनों पर बल्लेबाजी कर रहे सैम के बल्ले से बाहरी किना लगा और गेंद सीधे विकेटकीपर के हाथों में गई। जिसके बाद भारतीय खिलाड़ियों ने जोरदार अपील की। लेकिन रिप्ले में राज्यवर्धन का पैर क्रीज से बाहर जाता दिखाई दिया। जिसके बाद यह गेंद नो बॉल दे दी गई और सैम को जीवनदान मिल गया। इसके बाद सैम ने जोड़ीदार बल्लेबाज के साथ शानदार शतकीय साझेदारी की। इस बीच उन्होंने 51 गेंदों पर 59 रनों की पारी खेली। हालांकि, गेंदबाज मानव सुथार ने उन्हें आउट कर पवेलियन भेज दिया।

राज्यवर्धन की इस गेंद पर क्रिकेट प्रशंसकों को चैंपियंस ट्राफी 2017 का भारत और पाकिस्तान के बीच हुआ फाइनल मुकाबा याद आ गया। जिसमें विराट कोहली ने टॉस जीतकर पाकिस्तान को बल्लेबाजी करने का न्यौता दिया था। इस मैच में जसप्रीत बुमाराह ने पाकिस्तान के ओपिनंग बल्लेबाज फखर जमां को गेंद डाली थी जो बाहरी किनारा लगकर सीधे वकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों में गई। लेकिन रिप्ले के दौरान गेंद को ठीक उसी तरह नो बॉल दिया गया जिस तरह हंगरगेकर के साथ हुआ। इसके बाद फखर जमां और अजहर अली ने 128 रनों ओपनिंग साझेदारी की थी। भारत को फाइनल मुकाबले में एक तरफा हार का सामना करना पड़ा था। इस हार को याद कर आज भी भारतीय प्रशंसको का मन निराशा से भर जाता है।

Editors pick