Cricket
“अगर तुम पाकिस्तान में होते तो…” पूर्व पाक क्रिकेटर ने सहवाग से यह कहा था

“अगर तुम पाकिस्तान में होते तो…” पूर्व पाक क्रिकेटर ने सहवाग से यह कहा था

भारत और पाकिस्तान(IND vs PAK) का मैच हमेशा से हाइवोल्टेज रहा है। जब भी भारत-पाक का मैच होने वाला होता है तो कई दिनों पहले ही चर्चाएं शुरु हो जाती हैं। दोनों देशों की प्रितद्वंदिता के चलते हमेशा से यह मुकाबले रोमांचक होते आए हैं। भारत और पाकिस्तान मैच के दौरान की ही कुछ घटनाओं […]

भारत और पाकिस्तान(IND vs PAK) का मैच हमेशा से हाइवोल्टेज रहा है। जब भी भारत-पाक का मैच होने वाला होता है तो कई दिनों पहले ही चर्चाएं शुरु हो जाती हैं। दोनों देशों की प्रितद्वंदिता के चलते हमेशा से यह मुकाबले रोमांचक होते आए हैं। भारत और पाकिस्तान मैच के दौरान की ही कुछ घटनाओं का खुलासा हाल ही में पाकिस्तान के एक पूर्व क्रिकेटर ने किया है। पाक के पूर्व तेज गेंदबाज राणा नावेद(Rana Naved) यानि नावेद उल हसन(Naved ul hasan) ने भारत और पाकिस्तान मैच के दौरान हुए वाकिया बारे में खुल कर बात की है। नावेद का कहना है कि वीरेंद्र सहवाग(Virender Sehwag) को आउट करना सबसे आसान रहता था।

यह बात साल 2004-05 की है, जब भारत और पाकिस्तान के बीच सीरीज खेली गई थी। उस समय क्रीज पर बल्लेबाजी कर रहे सहवाग अपने शतक के करीब थे। तब तेज गेंदबाज नावेद ने सहवाग को आउट करने के लिए स्लेजिंग का सहारा लिया। उन्होंने सहवाग को उकसाया। नादिर अली पोडकास्ट में बोलते हुए नावेद ने बताया कहा कि ” साल 2004-05 में सीरीज खेली गई थी, सीरीज में हमने जीत दर्ज की थी और मैं टूर्नामेंट का बेस्ट प्लेयर बना था। यह पांच मैचों की सीरीज थी और हम उसमें 2-0 से पीछे चल रहे थे। सीरीज के तीसरे वीरेंद्र सहवाग बहुत तेज बल्लेबाजी कर रहे थे। वह 85 रनों पर खेल रहे थे और भारत ने 300 रन बना लिए थे।”

पाक के पूर्व क्रिकेटर Naved ul hasan ने IND vs PAK मैच के बारे में बताते हुए कहा Virender Sehwag को आउट करना सबसे आसान रहता था।

नावेद ने बताया कि “मैंने टीम के कप्तान इंजमाम उल हक से गेंद देने को कहा। उन्होंने मुझे ओवर फेंकने के लिए गेंद दी और मैंने एक धीमी बाउंसर सहवाग को डाली। इसके बाद मैं सहवाग के पास गया और कहा कि तुम्हें ये ही नहीं पता कि कैसे खेलना है। अगर तुम पाकिस्तान में होते तो मुझे नहीं लगता है कि कभी इंटरनेशनल टीम में जगह भी बना पाते। फिर सहवाग ने मुझसे कुछ कहा और वापस जाते समय मैंने इंजी भाई(इंजमाम उल हक) से कहा कि अगली गेंद पर सहवाग आउट होगा।”

पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि “इसके बाद मैंने सहवाग को बैक ऑफ द हैंड धीमी गेंद फेंकी और गुस्सा होते हुए सहवाग ने बड़ा हिट लगाने की कोशिश की, लेकिन वह आउट हो गए।” उन्होंने बताया कि सहवाग का विकेट इतना अहम था कि हम वह मैच जीत गए।”

बता दें कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने अपने करीब 14 साल के करियर में 104 टेस्ट मैचों में 8586 रन बनाए हैं, जिसमें उनक सर्वश्रेष्ठ 319 रनों का है। वहीं, वन डे इंटरनेशनल में उन्होंने 251 मैचों में 8273 रन और 19 टी-20 इंटरनेशनल मैचों में 394 रन बनाए हैं।

Editors pick