Sandpaper Gate: मार्क टेलर ने कहा, ‘बॉल टेम्परिंग के सुर्खियों में आने से स्मिथ की कप्तानी की उम्मीदों को नुकसान होगा’

Sandpaper Gate: मार्क टेलर ने कहा, ‘बॉल टेम्परिंग के सुर्खियों में आने से स्मिथ की कप्तानी की उम्मीदों को नुकसान होगा’- ऑस्ट्रेलिया…

बॉल टेम्परिंग के सुर्खियों में आने से स्मिथ की कप्तानी की उम्मीदों को नुकसान होगा: टेलर
बॉल टेम्परिंग के सुर्खियों में आने से स्मिथ की कप्तानी की उम्मीदों को नुकसान होगा: टेलर

Sandpaper Gate: मार्क टेलर ने कहा, ‘बॉल टेम्परिंग के सुर्खियों में आने से स्मिथ की कप्तानी की उम्मीदों को नुकसान होगा’- ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर का मानना है कि 2018 में हुआ गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण (बॉल टेम्परिंग) कभी पूरी तरह नहीं दबेगा और हाल में इसके दोबारा सुर्खियां बटोरने से स्टीव स्मिथ की दोबारा टेस्ट कप्तानी हासिल करने की संभावनाओं को नुकसान पहुंचेगा.

गेंद से छेड़छाड़ प्रकरण में भूमिका के लिए स्मिथ को कप्तानी से बर्खास्त कर दिया गया था और उन पर एक साल का प्रतिबंध लगाया गया था. उन्होंने हाल में दोबारा ऑस्ट्रेलिया की कमान संभालने की इच्छा जताई थी और मौजूदा टेस्ट कप्तान टिम पेन ने भी इसका समर्थन किया था.

यह मामला हालांकि हाल में दोबारा सुर्खियां बना जब इस प्रकरण में भूमिका के लिए नौ महीने के प्रतिबंध का सामना करने वाले कैमरन बेनक्रॉफ्ट ने यह कहा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ केपटाउन टेस्ट के दौरान गेंद पर रेगमाल (Sandapaper) के इस्तेमाल की जानकारी गेंदबाजों को थी या नहीं इसके बारे में कोई भी खुद समझ सकता है.

टेलर ने ‘स्पोर्ट्स संडे’ से कहा, “इससे मदद नहीं मिलेगी. इसमें कोई संदेह नहीं कि इससे उसकी संभावनाओं को नुकसान पहुंचेगा क्योंकि मुझे यकीन है कि खेल से जुड़े अधिकतर लोग चाहेंगे कि यह मामला खत्म हो जाए, लेकिन यह ऐसे ही खत्म नहीं होगा.”

उन्होंने कहा, “इसमें कोई संदेह नहीं कि स्टीव स्मिथ के संभावित कप्तान होने को लेकर माहौल बन रहा है, इसमें संदेह की कोई बात नहीं है.”

उस सीरीज के दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा रहे पैट कमिंस, जोश हेजलवुड, मिशेल स्टार्क और ऑफ स्पिनर नाथन लियोन ने हाल में संयुक्त बयान जारी करके उस प्रकरण के संदर्भ में अटकलबाजियां पर विराम लगाने की मांग की थी.

टेलर ने भी ऑस्ट्रेलिया की गेंदबाजी चौकड़ी का समर्थन किया.

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान माइकल क्लार्क ने हालांकि मामले की जांच नहीं करने और इसे दबाने का प्रयास करने के लिए क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया की आलोचना की थी.

ये भी पढ़ें – ICC WTC Final: ‘प्लेइंग 11 में न आने के बाद अभी भी मयंक अग्रवाल मेंटल ब्लॉक से उबर रहे हैं’

Share This: