पृथ्वी शॉ का बड़ा बयान-क्रिकेट से आठ महीने के प्रतिबंध के लिए मैं और मेरे पिता जिम्मेदार

पृथ्वी शॉ का बड़ा बयान-क्रिकेट से आठ महीने के प्रतिबंध के लिए मैं और मेरे पिता जिम्मेदार- भारतीय टीम के युवा सलामी…

पृथ्वी शॉ का बड़ा बयान-क्रिकेट से आठ महीने के प्रतिबंध के लिए मैं और मेरे पिता जिम्मेदार
पृथ्वी शॉ का बड़ा बयान-क्रिकेट से आठ महीने के प्रतिबंध के लिए मैं और मेरे पिता जिम्मेदार

पृथ्वी शॉ का बड़ा बयान-क्रिकेट से आठ महीने के प्रतिबंध के लिए मैं और मेरे पिता जिम्मेदार- भारतीय टीम के युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ 2018 में भारत के लिए अपनी कप्तानी में अंडर -19 विश्व कप जीता। उन्होंने इसके तुरंत बाद भारतीय टीम में जगह बनाई और वेस्टइंडीज के खिलाफ धमाकेदार शुरुआत की। जहां उन्होंने अपना पहला शतक भी जमाया। लेकिन इसके बाद मुंबई के इस युवा खिलाड़ी के लिए चीजें नीचे की ओर जाने लगीं। ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान उन्हें टखने में चोट लग गई फिर फॉर्म में गिरावट आने लगी और तो और प्रतिबंधित पदार्थ के लिए भी पॉजिटिव पाए गए। जिसके लिए उन्हें आठ महीने तक क्रिकेट से दूर रहना पड़ा।

ये भी पढ़ें- सुशील कुमार की गिरफ्तारी का Video तेजी से हो रहा वायरल, आप भी देखें

“न्यूजीलैंड दौरे तक मुझे लगता था सब ठीक है। मूल रूप से मैं ठीक महसूस कर रहा था और फिर मैंने 2020 में आईपीएल में भी अच्छा प्रदर्शन किया। 2018-19 ऑस्ट्रेलिया श्रृंखला कुछ ऐसी थी जिसका मैं वास्तव में इंतजार कर रहा था और तभी अचानक टखने में चोट लग गई। फिजियो और टीम प्रबंधन मुझे तीसरे टेस्ट के लिए तैयार रखने की कोशिश कर रहे थे। लेकिन एक बिंदु के बाद मेरी रिकवरी रुक गई। मैं बहुत दर्द में था और सचमुच दुखी था। लेकिन इस तरह की चीजें होती रहती हैं और यही बात खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ ने मुझे समझाने की कोशिश की।

“वापस आने के बाद, मैंने अपना इलाज शुरू किया और आईपीएल खेला। लेकिन फिर ये कफ सिरप विवाद सामने आ गया। मुझे लगता है कि पिताजी और मैं इसके लिए जिम्मेदार हैं। मुझे याद है कि हम इंदौर में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेल रहे थे और उस समय मुझे सर्दी-खांसी थी। इसलिए मैं रात के खाने के लिए बाहर गया था और बहुत खांस रहा था। इसलिए मैंने पापा से बात की। उन्होंने मुझे बाजार में उपलब्ध कफ सिरप लेने को कहा। मैंने जो गलत किया वह था फिजियो से सलाह नहीं ली, जो मेरी ओर से गलत था।’

“मैंने उस सिरप को दो दिनों तक लिया और तीसरे दिन मेरा डोप परीक्षण हुआ और मुझे प्रतिबंधित पदार्थ के लिए पॉजिटिव पाया गया। वह मेरे लिए वास्तव में कठिन दौर था जिसे मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता। मैं अपनी छवि को लेकर चिंतित था कि लोग मेरे बारे में क्या सोचेंगे। मैं इन सब से दूर लंदन चला गया। वहां मैं अपने कमरे से ज्यादा बाहर नहीं निकलता था।”

Share This: