क्रिकेट से संन्यास लेने से पहले ये बड़ा काम करना चाहते हैं मोहम्मद शमी

क्रिकेट से संन्यास लेने से पहले ये बड़ा काम करना चाहते हैं मोहम्मद शमी- भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी…

क्रिकेट से संन्यास लेने से पहले ये बड़ा काम करना चाहते हैं मोहम्मद शमी
क्रिकेट से संन्यास लेने से पहले ये बड़ा काम करना चाहते हैं मोहम्मद शमी

क्रिकेट से संन्यास लेने से पहले ये बड़ा काम करना चाहते हैं मोहम्मद शमी- भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी इंग्लैंड के हाई-प्रोफाइल दौरे के लिए तैयार हैं। कोरोना के कारण आईपीएल 2021 को फिलहाल के लिए निलंबित कर दिया गया है। शमी भारतीय क्रिकेट टीम में सबसे अनुभवी गेंदबाजों में से एक हैं। सबसे अनुभवी सदस्यों में से एक होने के नाते, शमी को अपने पेशेवर करियर में अब तक जो भी कुछ पाया है वो युवाओं को बांटेंगे। उन्होंने एक इंटरव्यू में ये बातें कही।

संन्यास लेने से पहले अपना अनुभव युवाओं को साझा करना चाहता हूं

उन्होंने कहा  अनुभव अपने आप आता है क्योंकि इतने सालों तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में खेलने के बाद, मैं कुछ भी साझा करना चाहूंगा जो युवा चाहते हैं। मैं हमेशा के लिए नहीं खेलने जा रहा हूं, इसलिए यह बहुत अच्छा होगा अगर मैं युवाओं को कुछ दे सकूं, ” शमी ने गल्फ न्यूज को एक साक्षात्कार में बताया।

ये भी पढ़ें- महिला क्रिकेट के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है: पूर्व महिला क्रिकेटर स्नेहल प्रधान

अब, वे अगले महीने आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में न्यूजीलैंड से भिड़ेंगे और पांच मैचों की श्रृंखला में इंग्लैंड के साथ भी भिड़ेंगे। शमी का मानना है कि टीम में इंग्लैंड में भी सफलता हासिल करेगी।

उन्होंने कहा कि “हमने हाल के दिनों में एक टीम के रूप में कुछ असाधारण क्रिकेट खेला है और स्वाभाविक रूप से, इंग्लैंड के खिलाफ खेलने से पहले हमारा आत्मविश्वास बढ़ा हुआ है। हमने पिछले 6 महीने में जिस तरह का खेल दिखाया है अगर वैसा ही खेल हम इंग्लैंड में दिखाते हैं तो हमारे लिए ये शानदार समर होगा।

जहां तक ​​अपने करियर की योजना बनाने की बात है, कोरोना महामारी ने शमी को थोड़ा समझदार बना दिया है। वह अभी लंबी अवधि की योजना नहीं बनाते हैं और एक समय में एक श्रृंखला पर फोकस करना पसंद करते हैं।

उन्होंने कहा कि “देखिए, बहुत अधिक योजना बनाने का कोई मतलब नहीं है क्योंकि कुछ चीजें हमारे नियंत्रण में नहीं होती हैं। किसने सोचा होगा कि महामारी हमारे जीवन के दो साल लगभग नष्ट कर देगी – इसलिए मैं प्रत्येक श्रृंखला या टूर्नामेंट के हिसाब से अभ्यास करता हूं।’

Share This: