IPL 2022 Controversy: आईपीएल के इस सीजन के 5 बड़े विवाद, जिन्हें फैंस के लिए भूल पाना नहीं होगा आसान

IPL 2022 Controversy: आईपीएल (IPL) का 15वा सीजन (IPL 2022) बड़ा ही रोमांच भरा रहा है, इस सीजन फैंस को कुछ नए…

IPL 2022 Controversy: आईपीएल (IPL) का 15वा सीजन (IPL 2022) बड़ा ही रोमांच भरा रहा है, इस सीजन फैंस को कुछ नए खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन तो याद रहे ही होंगे, जबकि इस सीजन (IPL 15) के दौरान कुछ ऐसी घटनाएं भी मैदान पर घटी हैं जिन्हे फैंस सालों तक नहीं भूल पाएंगे। ऐसी ही आईपीएल 2022 से जुड़े कुछ विवादों (IPL Controversies) को हम इस लेख के जरिए आपको बता रहे हैं। खेल की ताजा खबरों के लिए जुड़े रहिए- hindi.insidesport.in

1.ऋषभ पंत का अपने खिलाडियों को वापस बुलाना
राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच खेला गया 34वा मुक़ाबले में दिल्ली के कप्तान ऋषभ पंत ने कुछ ऐसा किया, जिसे देख कर सब स्तब्ध रह गए। दरअसल इस मुक़ाबले में खिलाडियों के प्रदर्शन से ज्यादा ऋषभ पंत के उस इशारे के चर्चा हुई जो उन्होंने मैच के आखिरी ओवर में अपनी टीम के बल्लेबाज़ों को वापस बुलाने के लिए किया था।

मैच का आखिरी ओवर चल रहा था दिल्ली को जीत के लिए 36 रनों की जरूरत थी। इस दौरान राजस्थान के कप्तान द्वारा गेंद ओबेद मैकॉय को थमाई गई, वहीं रोमन पॉवेल स्ट्राइक पर मौजूद थे। पावेल ने तीन गेंदों पर तीन छक्के जड़ दिए, जिसके बाद उन्हें तीसरी गेंद कमर से उपर लगी, जसी नो बॉल नहीं दिया गया। इसके लिए पॉवेल ने मैदानी अंपायर से अपील की लेकिन अंपायर ने इसे नो बॉल नहीं दिया। जिसके बाद दिल्ली के डग आउट में खलबली मच गई। कप्तान ऋषभ पंत अंपायर के इस फैसले को बर्दाश्त नहीं कर पाए और उन्होंने अपने दोनों बल्लेबाज़ों को वापस आने का इशारा कर दिया। यह विवाद सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हुआ और काफी दिनों तक चर्चा का विषय बना रहा।

2. विराट कोहली का एलबीडब्ल्यू पर गुस्सा होना
विराट कोहली के लिए यह सीजन बहुत ही बुरा रहा। कोहली ने इस सीजन 16 मैचों में २२ 73 के औसत से 341 रन ही बना पाए। हालांकि कोहली ने 73 रनों कि एक शानदार पारी खेली थी लेकिन कोहली जैसे बल्लेबाज़ से लोग ज्यादा की उम्मीद ही करते हैं। ऐसे में विराट कोहली से जुड़ा एक विवाद भी बड़ा ही चर्चा में रहा।

ये विवाद मुंबई इंडियंस के खिलाफ खेलते हुए देखने को मिला, दरअसल मुंबई के खिलाफ विराट कोहली को एलबीडब्ल्यू आउट दिया गया। उस समय कोहली 48 रन बनाकर खेल रहे थे, जब डेवाल्ड ब्रेविस को गेंद सौंपी गई। डेवाल्ड ब्रेविस की पहली ही गेंद पर विराट कोहली को आउट दिया गया, जिसके बाद उन्होंने रिव्यु के लिया। थर्ड अंपायर ने मैदानी अंपायर के फैसले को सही ठहराया जबकि रीप्ले में दिख रहा था की गेंद बल्ले से लगी थी। ऐसे में कोहकी को वापस ड्रेसिंग रूम लौटना पड़ा, जहां जाते समय विराट कोहली इस फैसले पर काफी नाराज़ भी दिखे और उनकी तस्वीरें भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई।

3.जब भिड़ गए थे रियान पराग और हर्षल पटेल
राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स के बीच खेला गया लीग मुक़ाबला बड़ा ही रोमांचक रहा। इस मैच में आरसीबी को हार का सामना करना पड़ा था, हालांकि इससे ज्यादा ये मुक़ाबला रियान पराग और हर्षल पटेल के बीच हुई जुबानी जंग की वजह से सुर्ख़ियों में रहा था। ये मामला इतना बढ़ा था कि आरसीबी की पारी के खत्म होने तक भी चलता रहा था।

दरअसल, मैच की आखिरी ओवर में हर्षल पटेल का कैच पकड़ने के बाद रियान पराग बैंगलोर के हर्षल पटेल से भिड़ गए थे, जिसके बाद दोनों खिलाडियों में जुबानी जंग भी हुई। इस मैच में 145 रनों का पीछे करने उतरी आरसीबी की टीम 115 रनों पर ही ढेर हो गई थी।

4.हार्दिक पांड्या का मोहम्मद शमी पर चिल्लाना
15 अप्रैल को आईपीएल विजेता टीम गुजरात टाइटंस का मुक़ाबला सनराइजर्स हैदराबाद से हुआ था। इस मुक़ाबले में मिली हार से कप्तान हार्दिक पांड्या इतना बौखला गए थे कि टीम के सबसे वरिष्ठ खिलाड़ी मोहम्मद शमी पर ही बरस पड़े थे। इस प्रकरण के बाद फैंस और पूर्व खिलाडियों ने हार्दिक को सोशल मीडिया पर आड़े हाथों लिया था।

हैदराबाद की पारी के 13वें ओवर के दौरान हार्दिक की गेंद पर मोहम्मद शमी से राहुल त्रिपाठी का एक कैच मिस हो गया था। हार्दिक के इसी ओवर में हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन ने दो छक्के जड़े थे, जिससे वह गुस्से में थे। ओवर की आखिरी गेंद पर राहुल त्रिपाठी ने डीप थर्ड मैन की तरफ हवा में शॉट खेला, जिसपर शमी कैच नहीं पकड़ पाए और हार्दिक पांड्या उनपर अपनी भड़ास निकलते हुए दिखाई दिए।

5.रवींद्र जडेजा को कप्तानी पद से हटाया जाना बना बड़ा विवाद
चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए यह सीजन बड़ा ही बुरा रहा। इस सीजन के शुरुआत में महेंद्र सिंह धोनी ने कप्तानी रवींद्र जडेजा को सौंपी थी, लेकिन 8 में से 6 मुक़ाबलों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था, जिसके बाद उन्होंने कप्तानी से हटने का फैसला किया और धोनी को एक बार फिर से कप्तानी सौंपी गई। हालांकि धोनी भी चेन्नई का भाग्य नहीं बदल पाए और टीम ने नौवे पायदान पर अपना आईपीएल सफर खत्म किया।

रवींद्र जडेजा के कप्तानी छोड़ने के लिए कारण उनका बल्लेबाज़ी पर ध्यान केंद्रित करना बताया गया। हालांकि उन्हें उसके बाद मैच खलने का मौक़ा भी नहीं दिया गया, इनसाइडस्पोर्ट को रवींद्र जडेजा के एक करीबी ने बताया था कि वह अपनी फ्रेंचाइजी से नाराज़ भी हैं। इस विवाद ने भी खूब तूल पकड़ा था।

क्रिकेट और अन्य खेल से सम्बंधित खबरों को पढ़ने के लिए हमें गूगल न्यूज (Google News) पर फॉलो करें।

Share This: