IND vs SL 2nd T20 Highlight: ‘नो बॉल करना क्राइम है …’ हार के बाद भडके हार्दिक पांड्या, अर्शदीप सिंह को लेकर कही बड़ी बात

IND vs SL 2nd T20 Highlight: भारत बनाम श्रीलंका (IND vs SL 2nd T20) के बीच दूसरा टी20 मुकाबला गुरुवार को पुणे…

IND vs SL 2nd Highlight: दूसरे टी20 में हार के बाद हार्दिक पांड्या ने इन खिलाड़ियों पर फोड़ा हार का ठीकरा, कही ये बात
IND vs SL 2nd Highlight: दूसरे टी20 में हार के बाद हार्दिक पांड्या ने इन खिलाड़ियों पर फोड़ा हार का ठीकरा, कही ये बात

IND vs SL 2nd T20 Highlight: भारत बनाम श्रीलंका (IND vs SL 2nd T20) के बीच दूसरा टी20 मुकाबला गुरुवार को पुणे में खेला गया। वहीं इस मुकाबले में हार्दिक पांड्या की कप्तानी वाली टीम इंडिया को श्रीलंका (IND vs SL LIVE) के खिलाफ 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा। अब इस जीत के साथ मेहमान टीम श्रीलंका ने सीरीज (IND vs SL) में 1-1 की बराबरी कर ली है। दूसरे टी20 में मिली हार के बाद कप्तान हार्दिक पांड्या (Hardik Pandya) ने बयान दिया है। आइए जानें क्या भारत के बोले कप्तान। क्रिकेट की खबरों के लिए Hindi.InsideSport.In को फॉलो करें।

हार्दिक पंड्या ने श्रीलंका के खिलाफ मिली दूसरे टी20 में हार के बाद कहा, “हमारी गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों ने ही पावरप्ले के दौरान हमें चोट पहुंचाई। हमने सामान्य गलतियां कीं जो हमें इस स्तर पर नहीं करनी चाहिए। हमें बुनियादी चीजें सीखनी चाहिए, जिसे हम नियंत्रित कर सकते हैं। आपका दिन खराब हो सकता है लेकिन बुनियादी बातों से दूर नहीं जाना चाहिए. इस परिस्थिति में यह बहुत कठिन है।”

पांड्या ने आगे लगातार नो बॉल डालने को लेकर कहा, “अतीत में भी अर्शदीप नो-बॉल फेंकी है। यह किसी को दोष देने के बारे में नहीं है, लेकिन नो-बॉल फेंकना अपराध है।” बता दें कि श्रीलंका के खिलाफ खेले गए दूसरे टी20 में भारत ने कुल 12 रन अतिरिक्त दिए, जिसमें अर्शदीप सिंह ने पांच नो-बॉल डाली।

IND vs SL 2nd T20 Highlight: दूसरे टी20 में हार के बाद हार्दिक पांड्या ने इन खिलाड़ियों पर फोड़ा हार का ठीकरा, कही ये बात

IND vs SL 2nd T20 Highlight: मैच का पूरा हाल

कप्तान दासुन शनाका और कुसाल मेंडिस के तूफानी अर्धशतक के बाद गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन से श्रीलंका ने दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में गुरुवार को यहां भारत को 16 रन से हराकर तीन मैच की श्रृंखला 1-1 से बराबर कर दी।

श्रीलंका के 207 रन के बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत बेहद खराब रही। अक्षर पटेल (31 गेंद में 65 रन, छह छक्के, तीन चौके) के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी और सूर्यकुमार यादव (36 गेंद में 51 रन, तीन चौके, तीन छक्के) के साथ उनकी छठे विकेट की 91 रन की साझेदारी से मेजबान टीम ने जीत की उम्मीद जगाई लेकिन अंतत: आठ विकेट पर 190 रन ही बना सकी। इन दोनों के अलावा शिवम मावी (15 गेंद में 26 रन) ही दोहरे अंक में पहुंच सके।

श्रीलंका के लिए शनाका ने गेंदबाजी में भी कमाल करते हुए अंतिम ओवर में चार रन देकर दो विकेट चटकाए। कासुन रजिता (22 रन पर दो विकेट) और दिलशान मदुशंका (45 रन पर दो विकेट) ने भी दो-दो विकेट हासिल किए। श्रीलंका ने इससे पहले शनाका (22 गेंद में नाबाद 56, छह छक्के, दो चौके) और मेंडिस (31 गेंद में 52 रन, चार छक्के, तीन चौके) की ताबड़तोड़ पारियों से छह विकेट पर 206 रन बनाए।

शनाका ने चमिका करूणारत्ने (नाबाद 11) के साथ चार ओवर में 68 रन की अटूट साझेदारी करके टीम का स्कोर 200 रन के पार पहुंचाया। मेंडिस ने इससे पहले पथुम नसिंका (33) के साथ पहले विकेट के लिए 8.2 ओवर में 80 रन की साझेदारी की। चरित असलंका ने भी 19 गेंद में चार छक्कों से 37 रन की तेजतर्रार पारी खेली।

भारत की ओर से उमरान मलिक सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 48 रन देकर तीन विकेट चटकाए। अक्षर ने 24 रन देकर दो विकेट हासिल किए। शिवम मावी ने चार ओवर में 53 जबकि अर्शदीप सिंह ने दो ओवर में 37 रन लुटाए। भारतीय गेंदबाजी में अनुशासन की कमी थी जो इससे जाहिर होता है कि टीम ने सात नोबॉल और चार वाइड फेंकी।

लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम ने पांचवें ओवर में 34 रन तक ही चार विकेट गंवा दिए। कासुन रजिता ने दूसरे ओवर की पहली ही गेंद पर इशान किशन (02) को बोल्ड किया और फिर अंतिम गेंद पर दूसरे सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल (05) को महेश तीक्षणा के हाथों कैच कराया।

पदार्पण कर रहे राहुल त्रिपाठी ने अपने घरेलू मैदान पर पांच रन बनाने के बाद दिलशान मदुशंका की गेंद पर विकेटकीपर मेंडिस को कैच थमाया। भारतीय कप्तान हार्दिक पंड्या ने करूणारत्ने पर पारी का पहला छक्का जड़ा लेकिन इसी ओवर में विकेटकीपर को कैच दे बैठे। उन्होंने 12 रन बनाए।

भारतीय टीम पावर प्ले में चार विकेट पर 39 रन ही बना सकी।

सूर्यकुमार ने करूणारत्ने पर चौके के साथ आठवें ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया लेकिन पहले टी20 के हीरो दीपक हुड्डा (09) ने वानिंदु हसरंगा की पहली ही गेंद पर धनंजय डिसिल्वा को कैच थमा दिया।

सूर्यकुमार और अक्षर ने इसके बाद भारतीय पारी को संवारा। अक्षर ने आते ही हसरंगा पर छक्का जड़ा लेकिन अगली गेंद पर भाग्यशाली रहे जब विकेटकीपर ने उनका कैच टपका दिया। सूर्यकुमार और अक्षर दोनों ने करूणारत्ने पर चौकों के साथ रन गति में इजाफा करने का प्रयास किया। अक्षर ने तीक्षणा की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का मारा।

दोनों बल्लेबाजों ने 14वें ओवर में हसरंगा को निशाना बनाया। इस ओवर में अक्षर ने लगातार तीन छक्के जबकि सूर्यकुमार ने भी एक छक्का मारा जिससे 26 रन बने। अक्षर ने करूणारत्ने पर छक्के के साथ सिर्फ 20 गेंद में करियर का पहला अर्धशतक पूरा किया जो श्रीलंका के खिलाफ भारत की ओर से संयुक्त रूप से सबसे तेज अर्धशतक है।

भारत को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 68 रन की दरकार थी। सूर्यकुमार ने भी मदुशंका पर छक्के के साथ 33 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। वह हालांकि इसी ओवर में लांग ऑन पर हसरंगा को कैच दे बैठे। पारी के 17वें ओवर में सिर्फ आठ रन बने। शिवम मावी ने 18वें ओवर में मदुशंका पर लगातार तीन गेंदों पर दो छक्के और एक चौका जड़कर भारत की उम्मीद बरकरार रखी।

भारत को अंतिम दो ओवर में 33 रन की जरूरत थी। रजिता के 19वें ओवर में सिर्फ 12 रन बने। शनाका के अंतिम ओवर में भारत को 21 रन की जरूरत थी लेकिन श्रीलंका के कप्तान ने तीसरी गेंद पर अक्षर को पवेलियन भेजकर श्रीलंका की जीत सुनिश्चित की।

इससे पहले पंड्या ने टॉस जीतकर श्रीलंका को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया जिसके बाद मेंडिस और निसंका ने टीम को तेज शुरुआत दिलाई। अर्शदीप ने दूसरे ओवर में लगातार तीन नोबॉल फेंकी जिसमें मेंडिस ने एक चौके और एक छक्के से 19 रन जुटाए। मेंडिस ने पंड्या के अगले ओवर में भी छक्का जड़ा और फिर पहले मैच के हीरो मावी का स्वागत दो चौकों से किया जिसमें एक चौका नोबॉल पर लगा।

श्रीलंका ने पावर प्ले में बिना विकेट खोए 55 रन बनाए। निसंका ने अक्षर पर चौका मारा जबकि मेंडिस ने बाएं हाथ के इस स्पिनर की गेंद को दर्शकों के बीच पहुंचाया। मेंडिस ने उमरान पर छक्के के साथ सिर्फ 27 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

युजवेंद्र चहल ने नौवें ओवर में मेंडिस को पगबाधा करके इस साझेदारी को तोड़ा। मैदानी अंपायर ने मेंडिस को नॉटआउट दिया था लेकिन डीआरएस लेने पर उन्हें अपना फैसला बदलना पड़ा। मेंडिस ने 31 गेंद का सामना करते हुए तीन चौके और चार छक्के मारे। अगले ओवर में भानुका राजपक्षे (02) भी उमरान की गेंद को विकेटों पर खेलकर पवेलियन लौटे।

दो विकेट चटकाने के साथ भारत ने रन गति पर कुछ अंकुश लगाया जिसका फायदा निसंका के विकेट के रूप में मिला जिन्होंने अक्षर पर बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में राहुल त्रिपाठी को बाउंड्री पर कैच थमाया। उन्होंने 35 गेंद की अपनी पारी में तीन चौके मारे।

चरित असलंका ने मावी पर छक्के के साथ 13वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया लेकिन अगले ओवर में धनंजय डिसिल्वा (03) ने अक्षर की गेंद पर लांग ऑन पर दीपक हुड्डा को कैच थमा दिया।

असलंका ने चहल पर लगातार दो छक्कों के साथ रन गति में इजाफे का प्रयास किया। उन्होंने उमरान पर भी छक्का जड़ा लेकिन इसी तेज गेंदबाज की गेंद को डीप मिडविकेट पर शुभमन गिल के हाथों में खेल गए। उन्होंने 19 गेंद का सामना करते हुए चार छक्के मारे। शनाका ने 18वें ओवर में उमरान पर दो छक्के और एक चौके से 21 रन बटोरे जिसमें नोबॉल पर जड़ा छक्का भी शामिल है।

शनाका ने अगले ओवर में अर्शदीप की गेंद पर सूर्यकुमार को कैच थमाया लेकिन यह भी नोबॉल निकली जिसके बाद श्रीलंका के कप्तान ने फ्री हिट पर छक्का जड़ा। शनाका ने मावी के पारी के अंतिम ओवर में तीन छक्कों के साथ 21 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। श्रीलंका ने अंतिम छह ओवर में 93 रन जोड़े।

क्रिकेट और अन्य खेल से सम्बंधित खबरों को पढ़ने के लिए हमें गूगल न्यूज (Google News) पर फॉलो करें।

Share This: