Athletics
Tokyo Olympics: ओलंपिक में रजत पदक जीतने के दो हफ्तें बाद Mirabai Chanu ने कही बड़ी बात, कहा- ‘खुशी के मारे नींद नहीं आती है’

Tokyo Olympics: ओलंपिक में रजत पदक जीतने के दो हफ्तें बाद Mirabai Chanu ने कही बड़ी बात, कहा- ‘खुशी के मारे नींद नहीं आती है’

Tokyo Olympics: ओलंपिक में रजत पदक जीतने के दो हफ्तें बाद Mirabai Chanu ने कही बड़ी बात, कहा- ‘खुशी के मारे नींद नहीं आती है’
Tokyo Olympics: ओलंपिक में रजत पदक जीतने के दो हफ्तें बाद Mirabai Chanu ने कही बड़ी बात, कहा- ‘खुशी के मारे नींद नहीं आती है’- मीराबाई चानू ने ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में पदक का भारत का 21 साल का इंतजार खत्म किया और 49 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक में […]

Tokyo Olympics: ओलंपिक में रजत पदक जीतने के दो हफ्तें बाद Mirabai Chanu ने कही बड़ी बात, कहा- ‘खुशी के मारे नींद नहीं आती है’- मीराबाई चानू ने ओलंपिक खेलों की भारोत्तोलन स्पर्धा में पदक का भारत का 21 साल का इंतजार खत्म किया और 49 किग्रा स्पर्धा में रजत पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने वाली पहली एथलीट बनी थी और इससे पांच साल पहले रियो खेलों में अपने निराशाजनक प्रदर्शन को भी पीछे छोड़ने में कामयाब रहीं। चानू (Mirabai Chanu) ने क्लीन एवं जर्क में 115 किग्रा और स्नैच में 87 किग्रा से कुल 202 किग्रा वजन उठाकर रजत पदक अपने नाम किया था। मीराबाई चानू ने पदक जीतने के दो सप्ताह बाद द इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में बताया कि वो इस पदक से इतनी उत्साहित हैं कि उन्हें खुशी के कारण नींद नहीं आती है। उन्होंने कहा कि इस दिन के लिए हमने काफी इंतजार किया था।

Mirabai Chanu at tokyo Olympics
टोक्यो ओलंपिक में जब वह भार उठा रही था तो उनके दिमाग में क्या चल रहा था? इसके जवाब में मीरा ने कहा कि आप दबाव महसूस करते हैं क्योंकि हर कोई आपको देख रहा होता है। अच्छा करने का दबाव होता है। मैंने उस समय को याद किया जो मैंने प्रशिक्षण के दौरान बिताया था, मैं शांत रहती, मैंने खुद से कहा कि मैं अपने प्रशिक्षण के दौरान जिस तरह से भार उठाई हूं, वही यहां करूंगा। तब स्थिति सामान्य महसूस होती है।

यह भी पढ़ें- India at Tokyo Olympic: भारतीय एथलीट्स के 7 मेडल जीतने पर पाकिस्तान में तारीफ, लेकिन चीन-अमेरिका खुश नहीं, जानिए वर्ल्ड मीडिया का रिएक्शन

Mirabai Chanu at tokyo Olympics- टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने के बाद मीराबाई चानू ने सबसे पहले अपनी मां से बात की थी। उन्होंने मुझे बताया कि घर वापस जश्न मना रहे थे। काफी लोगों ने शुभकामनाएं दी। हम ज्यादा बात नहीं कर सके। मैं उससे और बात करना चाहता था, लेकिन नहीं कर सकी।

मेडल जीतने के बाद अब नींद कैसी आती है? इस सवाल के जवाब में मीराबाई ने कहा कि ‘खुशी के मारे नींद नहीं आती, हमने इस दिन का वर्षों से इंतजार किया है।’

यह भी पढ़ें- Tokyo Olympics: From Neeraj Chopra to Indian hockey, medal winners receive resounding welcome on return, felicitated by Govt in grand ceremony

Paris Olympics: मीराबाई ने पेरिस ओलंपिक (Paris Olympics) को लेकर अपनी चुनौतियां के बारे में भी खुलासा किया है और ट्रेनिंग के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि वो जल्द ही ट्रेनिंग के लिए जाना चाहती हैं। पेरिस ओलंपिक (Paris Olympics) के शुरू होने में तीन साल से कम का समय है। क्वालिफिकेशन राउंड होंगे और बाद में कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स होंगे। मेरे पास वास्तव में बहुत कम समय है।

 

Editors pick