Athletics
Tokyo Olympics: 40 साल की उम्र में पहली बार ओलंपिक खेलेंगी तेजस्विनी सावंत, वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीत चुकी हैं गोल्ड

Tokyo Olympics: 40 साल की उम्र में पहली बार ओलंपिक खेलेंगी तेजस्विनी सावंत, वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीत चुकी हैं गोल्ड

Tokyo Olympics: 40 साल की उम्र में पहली बार ओलंपिक खेलेंगी तेजस्विनी सावंत, वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीत चुकी हैं गोल्ड
Tokyo Olympics: 40 साल की उम्र में पहली बार ओलंपिक खेलेंगी तेजस्विनी सावंत, वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीत चुकी हैं गोल्ड – शूटर तेजस्विनी सावंत (Tejaswini Sawant) 40 साल की उम्र में पहली बार ओलंपिक खेलने जा रही हैं। बता दें कि इससे पहले उन्होंने 2010 के वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड हासिल किया था। तेजस्विनी सावंत […]

Tokyo Olympics: 40 साल की उम्र में पहली बार ओलंपिक खेलेंगी तेजस्विनी सावंत, वर्ल्ड चैंपियनशिप में जीत चुकी हैं गोल्ड – शूटर तेजस्विनी सावंत (Tejaswini Sawant) 40 साल की उम्र में पहली बार ओलंपिक खेलने जा रही हैं। बता दें कि इससे पहले उन्होंने 2010 के वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड हासिल किया था।

तेजस्विनी सावंत (Tejaswini Sawant) का ओलंपिक (Tokyo Olympics) में खेलने का सपना दो बार टूट चुका है। उन्होंने पहली बार 2008 के बीजिंग ओलंपिक और दूसरी बार 2012 के लंदन ओलंपिक में जाने की पूरी कोशिश की थी। हालांकि अब उनका ये सपना टोक्यो ओलंपिक में पूरा होने जा रहा है। उनका मानना है कि उम्र सिर्फ एक नंबर है। लेकिन अपने अनुभव के जरिए वो टोक्यो ओलंपिक में अपने हर सेकेंड को सार्थक बनाएंगी।

ये भी पढ़ें – ओलंपिक में अपना बेस्ट देना चाहते हैं नीरज चोपड़ा, बोले – कोरोना की वजह से तैयारियों में पड़ा फर्क

तेजस्विनी का कहना है कि कोच कुहेली गांगुली की वजह से वो इस मुकाम तक पहुंचने में कामयाब हो पाईं हैं। उनकी कोच ने उन्हें कभी कमजोर पड़ने नहीं दिया और हमेंशा उनके सपनों को हासिल करने में उनका उत्साह बढ़ाया। बता दें कि उनकी कोच भी एक अंतरराष्ट्रीय लेवल की शूटर रह चुकी हैं। ऐसे में तेस्विनी उनसे काफी कुछ नया सीखने की कोशिश करती रहती हैं।

तेस्विनी ने कहा कि “कोरोना काल में भी मैंने अपनी ट्रेनिंग बंद नहीं की। मैंने बहुत कठिन ट्रेनिंग की और इसके हर लम्हे का आनंद उठाया है। अब मैं अपनी सारी ट्रेनिंग को ओलंपिक में लगा देना चाहती हूं।” बता दें कि तेजस्विनी ने कॉमनवेल्थ गेम्स (Commonwealth Games) में तीन बार गोल्ड अपने नाम किया है। टोक्यो से भी वो गोल्ड लेकर ही वापस आना चाहती हैं।

ये भी पढ़ें – गोल्ड मेडल जीतने पर इन राज्यों के एथलीट होंगे मालामाल, जानिए किस States के खिलाड़ियों को मिलेगी सबसे कम और ज्यादा राशि

Editors pick