Athletics
Tokyo Olympics: टीके से लेकर प्रशिक्षण सुविधाओं तक, हमारे खिलाड़ियों की हर आवश्यकताओं को पूरा किया जाना चाहिए : प्रधानमंत्री मोदी

Tokyo Olympics: टीके से लेकर प्रशिक्षण सुविधाओं तक, हमारे खिलाड़ियों की हर आवश्यकताओं को पूरा किया जाना चाहिए : प्रधानमंत्री मोदी

Tokyo Olympics: टीके से लेकर प्रशिक्षण सुविधाओं तक, हमारे खिलाड़ियों की हर आवश्यकताओं को पूरा किया जाना चाहिए : प्रधानमंत्री मोदी
Tokyo Olympics: टीके से लेकर प्रशिक्षण सुविधाओं तक, हमारे खिलाड़ियों की हर आवश्यकताओं को पूरा किया जाना चाहिए : प्रधानमंत्री मोदी- प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को टोक्यो ओलंपिक के लिए भारत की तैयारियों की समीक्षा की क्योंकि खेलों के महाकुंभ के शुरु होने में सिर्फ 50 दिन दूर है. एक आधिकारिक विज्ञप्ति में […]

Tokyo Olympics: टीके से लेकर प्रशिक्षण सुविधाओं तक, हमारे खिलाड़ियों की हर आवश्यकताओं को पूरा किया जाना चाहिए : प्रधानमंत्री मोदी- प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को टोक्यो ओलंपिक के लिए भारत की तैयारियों की समीक्षा की क्योंकि खेलों के महाकुंभ के शुरु होने में सिर्फ 50 दिन दूर है.

एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है, “आगामी टोक्यो ओलंपिक के लिए परिचालन तत्परता के विभिन्न पहलुओं पर अधिकारियों द्वारा एक प्रस्तुति दी गई थी. समीक्षा के दौरान, प्रधान मंत्री को महामारी के बीच एथलीटों के लिए निर्बाध प्रशिक्षण सुनिश्चित करने, अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भागीदारी सुनिश्चित करने की दिशा में उठाए गए विभिन्न कदमों से अवगत कराया गया था. ओलंपिक कोटा जीतने के लिए, एथलीटों का टीकाकरण, और उन्हें अनुकूलित सहायता प्रदान की जा रही है.”

ये भी पढ़ें- Tokyo Olympics: किरण रिजिजू, नरेंद्र बत्रा ने टोक्यो ओलंपिक के लिए भारतीय टीम की ऑफिशियल किट का किया अनावरण

पीएम मोदी ने कहा कि वह जुलाई में एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए ओलंपिक दल से जुड़ेंगे, ताकि उन्हें प्रोत्साहित किया जा सके और सभी भारतीयों की ओर से उन्हें शुभकामनाएं दी जा सकें.

प्रधानमंत्री ने कहा कि खेल भारत के राष्ट्रीय चरित्र के केंद्र में है और युवा खेल की एक मजबूत और जीवंत संस्कृति का निर्माण कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि 135 करोड़ भारतीयों की शुभकामनाएं उन सभी एथलीटों के साथ होंगी जो ओलंपिक में हिस्सा लेंगे. पीएम ने कहा कि वैश्विक मंच पर चमकने वाले प्रत्येक युवा खिलाड़ी के के कारण एक हजार और खिलाड़ी खेलों को अपनाने के लिए प्रेरित होंगे.

अधिकारियों ने कहा कि ओलंपिक में भाग लेने के दौरान एथलीटों को प्रेरित करने और उनका मनोबल बढ़ाने पर भी विशेष ध्यान दिया जाएगा. इसलिए, प्रतियोगिता के दौरान उनके माता-पिता और परिवार के सदस्यों के साथ भारत में नियमित वीडियो कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया जाएगा.

Editors pick