Athletics
Tokyo Olympics India: टोक्यो ओलंपिक में कितने पदक जीतकर ला सकता है भारत? योगेश्वर दत्त ने बताया

Tokyo Olympics India: टोक्यो ओलंपिक में कितने पदक जीतकर ला सकता है भारत? योगेश्वर दत्त ने बताया

Tokyo Olympics India: टोक्यो ओलंपिक में कितने पदक जीतकर ला सकता है भारत? योगेश्वर दत्त ने बताया
Tokyo Olympics India: टोक्यो ओलंपिक में कितने पदक जीतकर ला सकता है भारत? योगेश्वर दत्त ने बताया: टोक्यो ओलंपिक सेरेमनी के साथ टोक्यो ओलंपिक 2021 (Tokyo Olympics 2021) की शुरुआत हो गई है। मैरी कॉम (Mary Kom), मनप्रीत सिंह ओपनिंग सेरेमनी में भारतीय दल को लीड करेंगे। टोक्यो ओलंपिक में भारतीय खिलाड़ियों (India at Tokyo […]

Tokyo Olympics India: टोक्यो ओलंपिक में कितने पदक जीतकर ला सकता है भारत? योगेश्वर दत्त ने बताया: टोक्यो ओलंपिक सेरेमनी के साथ टोक्यो ओलंपिक 2021 (Tokyo Olympics 2021) की शुरुआत हो गई है। मैरी कॉम (Mary Kom), मनप्रीत सिंह ओपनिंग सेरेमनी में भारतीय दल को लीड करेंगे। टोक्यो ओलंपिक में भारतीय खिलाड़ियों (India at Tokyo Olympics) पर देशवासियों की नजरें रहेंगी, कि भारत के खिलाड़ी टोक्यो ओलंपिक में कितने पदक जीतकर लाएंगे। सभी को उम्मीद है कि टोक्यो ओलंपिक में भारतीय खिलाड़ियों का प्रदर्शन लाजवाब होगा, और इस बार पिछले ओलंपिक के मुकाबले प्लेयर्स/टीम अधिक मेडल जीतकर स्वदेश लौटेंगे. कुश्ती प्लेयर योगेश्वर दत्त ने टोक्यो ओलंपिक में भारतीय द्वारा पदक जीतने को लेकर कहा है कि भारत इस बार ओलंपिक में 8 – से 12 मेडल जीत सकता है।

Olympics 2021 India – योगेश्वर दत्त ने एएनआई से बातचीत में कहा – हमें अपने खिलाड़ियों से उम्मीदें अधिक है। पूरा देश प्रार्थना कर रहा है कि टोक्यो ओलंपिक में भारतीय दल ज्यादा से ज्यादा मेडल जीते। मुझे लगता है कि भारतीय दल 8-12 मेडल इस ओलिंपिक में जीत सकते हैं।

Olympics 2021 India – योगेश्वर दत्त ने कहा – मुझे लगता है कि रेसलिंग में हम 2-3 मेडल जीत सकते हैं. हमारे खिलाड़ी मेडल जीतने के लिए बेताब हैं. उन्होंने उम्मीद जताई है कि हमारे प्लेयर्स टोक्यो ओलंपिक में लंदन ओलंपिक के मुकाबले बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं.

Tokyo Olympics India: योगेश्वर दत्त ने उन खिलाड़ियों की हौसलाफजाई के लिए ट्वीट किया, जो टोक्यो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। उन्होंने लिखा – आज का दिन हर उस खिलाड़ी के लिए सपना सच होने जैसा है जिसने खेल के लिए अपना हर सेकेंड, हर मिनट, है घंटा, हर दिन और हर साल सिर्फ खेल के लिए जिया है। आपका हर दांव जीवन का श्रेष्ठ दांव हो और हर जीत जीवन की श्रेष्ठ जीत हो।

यह भी पढ़ें – Tokyo Olympics: ओलंपिक में मैच से पहले विनेश फोगाट ने प्रधानमंत्री से मांगी मदद, पूछा- क्या फिजियोथेरेपिस्ट की मांग करना कोई गुनाह है?

Editors pick