Athletics
Tokyo Olympics: ओलंपिक रिकॉर्ड की कोशिश कर रहा था, पर ऐसा नहीं हो पाया: Neeraj Chopra

Tokyo Olympics: ओलंपिक रिकॉर्ड की कोशिश कर रहा था, पर ऐसा नहीं हो पाया: Neeraj Chopra

Tokyo Olympics: ओलंपिक रिकॉर्ड की कोशिश कर रहा था, पर ऐसा नहीं हो पाया: Neeraj Chopra-भारतीय भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा – javelin thrower
Tokyo Olympics: ओलंपिक रिकॉर्ड की कोशिश कर रहा था, पर ऐसा नहीं हो पाया: Neeraj Chopra- भारतीय भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने शनिवार को कहा कि अपने पहले दो थ्रो अच्छा फेंकने के बाद वह ओलंपिक रिकार्ड की कोशिश कर रहे थे। चोपड़ा (javelin thrower Neeraj Chopra) ने यह भी खुलासा किया कि वह […]

Tokyo Olympics: ओलंपिक रिकॉर्ड की कोशिश कर रहा था, पर ऐसा नहीं हो पाया: Neeraj Chopra- भारतीय भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने शनिवार को कहा कि अपने पहले दो थ्रो अच्छा फेंकने के बाद वह ओलंपिक रिकार्ड की कोशिश कर रहे थे। चोपड़ा (javelin thrower Neeraj Chopra) ने यह भी खुलासा किया कि वह अपने अंतिम थ्रो से पहले कुछ नहीं सोच रहे थे क्योंकि उन्हें महसूस हो गया था कि वह यहां खेलों में अभूतपूर्व शीर्ष स्थान हासिल कर चुके थे।

वह सभी 12 प्रतिस्पर्धियों में पहले तीन प्रयासों में सर्वश्रेष्ठ थे जिससे वह अगले तीन प्रयासों में थ्रो करने के लिये सबसे आखिर में आये। जैसे ही रजत पदक विजेता चेक गणराज्य के जाकुब वाडलेच ने अपना अंतिम थ्रो पूरा किया, चोपड़ा (javelin thrower Neeraj Chopra) जान गये थे कि उन्होंने स्वर्ण पदक जीत लिया है।

यह भी पढ़ें- Neeraj Chopra Gold Medal at Olympics 2021: नीरज चोपड़ा की जीत पर बधाइयों का तांता, मिल्खा सिंह के बेटे ने लिखा भावुक संदेश

India win gold in olympics- चोपड़ा ने कहा, ‘‘मैं भाले के साथ ‘रन-अप’ पर था लेकिन मैं सोच नहीं पा रहा था। मैंने संयम बनाया और अपने अंतिम थ्रो पर ध्यान लगाने का प्रयास किया जो शानदार नहीं था लेकिन फिर भी ठीक (84.24 मीटर का) था। ’’

उन्होंने यह भी कहा कि वह 90.57 मीटर (नार्वे के आंद्रियास थोरकिल्डसन के 2008 बीजिंग ओलंपिक में बनाये गये) के ओलंपिक रिकार्ड का लक्ष्य बनाये हुए थे लेकिन ऐसा नहीं कर सके।

यह भी पढ़ें- Tokyo Olympics: Who is Neeraj Chopra? India’s first Olympic GOLD medalist at Atheltics- All you need to know

India win gold in olympics- चोपड़ा ने कहा, ‘‘पहले दो थ्रो अच्छा होने के बाद (जो 87 मीटर से ऊपर के थे) मैंने सोचा कि मैं ओलंपिक रिकार्ड की कोशिश कर सकता हूं। लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। ’’

Editors pick